अमेरिका में पुलिस को सोमवार को एक बच्ची का शव मिला. ऐसी आशंका जताई जा रही है कि यह शव, दो हफ्ते पहले लापता हुई तीन साल की भारतीय बच्ची शेरीन मैथ्यूज का है.

 

 

सुरंग के नीचे मिला शव

 

रिचर्डसन पुलिस ने घोषणा की कि उन्हें एक सड़क के नीचे एक सुरंग में बच्ची का शव मिला है. पुलिस ने आशंका जताई कि यह शव संभवत: शेरीन का है लेकिन उन्होंने शव की पहचान की पुष्टि नहीं की. यह शव वेस्ले मैथ्यूज और उसकी पत्नी सिनी मैथ्यूज के घर से करीब आधे मील की दूरी पर मिला है.

 

शव की पहचान करने में जुटी पुलिस

 

अधिकारियों ने तलाश अभियान के तौर पर सेंट्रल एक्सप्रेसवे के पूर्व में स्प्रिंग वैली और बॉउजर सड़कों के निकट एक इलाके को बंद कर दिया था. खोजी कुत्तों की मदद से सुरंग में सुबह करीब 11 बजे शव मिला. पुलिस ने अभी इस बात की कोई जानकारी नहीं दी है कि बच्ची की मौत कैसे हुई. हालांकि, उन्होंने इस बात का संकेत दिया कि उनके पास इस बात पर विश्वास करने का कोई और कारण नहीं है कि यह शव किसी और बच्चे का है. शव की पहचान करने की प्रक्रिया जारी है. चिकित्सकीय जांचकर्ता मौत के कारण का पता लगाने की कोशिश कर रहे हैं.

 

ऐसे हुई थी गायब

 

टेक्सास में 3 साल की भारतीय बच्ची को उसके पालने वाले पिता (फॉस्टर फादर) ने दूध नहीं पीने पर रात में घर से बाहर खड़े होने की सजा दी. इसके बाद से ही वो बच्ची लापता है. बता दें कि शेरिन मैथ्यूज को दो साल पहले वेसले मैथ्यूज ने भारत के एक बाल गृह से गोद लिया था.

 

यहां देखा गहया अंतिम बार

 

शेरीन शारीरिक विकास संबंधी समस्या से ग्रसित है. साथ ही उसे बात करने में दिक्कत होती है. उसे घर से बाहर निकाले जाने के बाद अंतिम बार सातअक्टूबर को डलास के रिचर्डसन में उसके घर के पीछे वाले हिस्से में देखा गया था.

 

शेरिन के पिता को किया गया था गिरफ्तार

 

शेरीन को गोद लेने वाले उसके पिता वेस्ले मैथ्यूज को बच्ची को छोड़ने और उसकी जान खतरे में डालने के आरोप में गिरफ्तार कर लिया गया था. उसे बाद में 2,50,000 डॉलर की जमानत पर रिहा कर दिया गया था. बताया जा रहा है कि मैथ्यूज केरल का रहने वाला है.

 

 

बच्ची को पेड़ के पास खड़े होने के लिए कहा गया

 

गिरफ्तारी वारंट शपथपत्र के अनुसार, मैथ्यूज ने पुलिस को बताया कि उसने शेरीन को सात अक्टूबर को देर रात करीब तीन बजे घर से बाहर निकाल दिया था. उसे एक बड़े पेड़ के पास खड़े होने को कहा था. शपथपत्र के अनुसार उसने स्वीकार किया कि उसे इस बात की जानकारी थी कि इलाके में जंगली जानवर देखे गए हैं. मैथ्यूज 15 मिनट बाद शेरीन को कथित रूप से देखने गया था लेकिन उसे शेरीन वहां नहीं मिली. पुलिस सार्जंट केविन पेरलिच के अनुसार मैथ्यूज ने बताया कि इसके बाद वह कपड़े धोने से लिए अंदर आ गया और उसने निर्णय लिया कि वह सुबह उसकी तलाश करेगा या फिर शेरीन के अपने आप लौटने तक सुबह तक का इंतजार करेगा. पुलिस को पांच घंटे बाद बच्ची के लापता होने की जानकारी दी गई.

 

सुषमा स्वराज ने ट्वीट कर जताई चिंता

 

शेरीन के मामले ने विदेश मंत्री सुषमा स्वराज का भी ध्यान खींचा. उन्होंने 19 अक्टूबर को ट्वीट कर कहा, 'हम लापता बच्ची को लेकर बहुत चिंतित हैं. अमेरिका में भारतीय दूतावास सक्रिय रूप से शामिल है. वे मुझे जानकारी दे रहे हैं. यूस्टन में भारत के महावाणिज्यदूत अनुपम रे ने ट्वीट किया था, हम शेरीन मैथ्यूज के मामले पर निकटता से नजर रख रहे हैं.' उन्होंने कहा, 'हम समुदाय एवं प्राधिकारियों के संपर्क में हैं.'