छत्तीसगढ़ सरकार के मंत्री की कथित सेक्स सीडी मामले में गुरुवार को नया मोड़ आ गया है. अश्लील सीडी मामले में आरोपी वरिष्ठ पत्रकार विनोद वर्मा के बेटे ने गाजियाबाद से इंदिरापुरम थाने में एक एफआईआर दर्ज कराई है. इसमें छत्तीसगढ़ पुलिस और संदिग्ध व्यक्ति पर साजिश करने का आरोप लगाया गया है.

 

पुलिस व संदिग्ध व्यक्ति के खिलाफ दर्ज कराई गई एफआईआर की कॉपी बिलासपुर हाईकोर्ट में जमा कराई गई है. ये एक ऑनलाइन एफआईआर है, जिसमें ये कहा गया है कि छत्तीसगढ़ पुलिस और कुछ लोग उनके घर पहुंचे थे और साजिश को अंजाम दिया. यही नहीं एफआईआर में सोसाइटी में गेस्ट की इंट्री रजिस्टर के पन्ने फाड़ने और सीसीटीवी फुटेज को गायब करने का भी आरोप लगाया गया है.

 

हाईकोर्ट में एफआईआर की कापी के साथ आवेदन भी लगाया गया है.

फिलहाल पत्रकार विनोद वर्मा की जमानत की अर्जी हाईकोर्ट में लगी हुई है. विनोद वर्मा की जमानत की अर्जी पर अगले महीने सुनवाई होनी है, इससे पहले हाईकोर्ट ने पुलिस से पूरे घटनाक्रम की केस डायरी तलब की थी.

 

बता दें कि पिछले महीने मंत्री की अश्लील सीडी मामले में गाजियाबाद पुलिस के सहयोग से छत्तीसगढ़ क्राइम ब्रांच ने विनोद वर्मा को गिरफ्तार किया था. आरोप है का विनोद वर्मा के पास 500 से ज्यादा सीडी भी बरामद की गई थी. इस मामले में सेशन कोर्ट और जेएमएफसी कोर्ट से पत्रकार विनोद वर्मा की जमानत याचिका खारिज हो चुकी है.