यदि आप सोशल मीडिया या बोल-चाल में भी छत्तीसगढ़ी भाषा का उपयोग करना चाहते हैं, लेकिन आपको छत्तीसगढ़ी नहीं आती तो भी परेशानी की कोई बात नहीं है. क्योंकि गूगल ने अब छत्तीसगढ़ी की-बोर्ड लॉन्च कर दिया है. इससे अंतरराष्ट्रीय जगत में छत्तीसगढ़ी की अहमियत साबित हुई है.

 

उल्लेखनीय है कि इस सारी कवायद में स्थानीय अधिवक्ता और छत्तीसगढ़ी-हिंदी साहित्य के जाने-माने नाम दुर्ग निवासी संजीव तिवारी ने अहम योगदान दिया है. हालांकि यह तथ्य कम लोगों को ही मालूम था, लेकिन छह दिन पहले राजनांदगांव सांसद व सीएम डॉ. रमन सिंह के बेटे अभिषेक सिंह के एक ट्विट के बाद इसको लेकर सोशल मीडिया में हलचल बढ़ी. तब लोगों को मालूम हुआ कि गूगल ने संजीव तिवारी की मदद से हमारी छत्तीसगढ़ी को वैश्विक स्तर पर मान मिला है.

 

गूगल द्वारा जी-बोर्ड मोबाइल छत्तीसगढ़ी की बोर्ड लॉन्च करने बाद सोशल मीडिया पर चर्चाओं का दौर है.

​ सांसद अभिषेक सिंह से लेकर लगभग हर छत्तीसगढ़िया इस तथ्य को सोशल मीडिया में शेयर कर रहा है. अधिवक्ता संजीव तिवारी बताते हैं कि मैंने इस पर इसी साल जुलाई में एक पोस्ट लिखा था, तब लोगों के उत्साह को देखकर खुशी हुई थी.