तंत्र क्रियाओं में उपयोग होने वाली सामग्री में एक ऐसा फूल है, जो किसी भी व्यक्ति के जीवन में धन की कमी को पूरा कर सकता है। इस शुभ वनस्पति का नाम है नागकेसर, इसे दरिद्रता भगाने वाला फूल कहा जाता है। इस फूल का सही तरीके से इस्तेमाल करने पर धन लाभ के योग बनने लगते हैं। आप भी आजमाएं और अपार संपत्ति के मालिक बन जाएं। नागकेसर का प्रयोग पूजा पाठ में भी किया जाता है। तंत्र के अनुसार नागकेसर के कुछ सरल उपाय करने से व्यक्ति आर्थित तंगी से बच सकता है। इसके साथ ही ये उपाय व्यक्ति को धनवान बना सकते हैं। आइए जानें नागकेसर के कुछ उपाय-

यदि परिवार में अशांति है तो नागकेसर का फूल लाकर घर में कहीं छिपा दें। जहां उसे कोई देख न सके। 

 

पलाश, नागकेसर, अरिष्ट, शमी आदि का पौधा घर के बगीचे में लगाना शुभ होता है।  

 

रुका हुआ धन पुन: प्राप्त करने के लिए मिट्टी अथवा आटे का चौमुख दीपक बना देसी घी, तिल के तेल से भर कर उसमें 4 बत्तियां रुई की रख के किसी चौराहे पर अद्र्ध रात्रि को जलाएं। उस दीपक में 3 काले हकीक एक-एक करके जिससे रुपया वापस लेना है उसका नाम लेकर डाल दें। दीपक के ऊपर नागकेसर, जावित्री, काले तिल एक-एक चम्मच भी डाल दें। यह क्रम हर अमावस को करते रहें।

 

किसी भी शुभ मुहूर्त में नागकेसर अौर 5 सिक्के एक कपड़े में बांधकर तिजोरी में रखने से घर में कभी पैसों की तंगी नहीं होती।

 

आर्थिक तंगी से बचने के लिए चांदी की छोटी डिब्बी में नागकेसर अौर शहद बंद करके तिजोरी में रखने से लाभ होगा। 

 

शिवलिंग का अभिषेक करने के पश्चात बिल्व पत्र अौर नागकेसर के फूल अर्पित करें। उसके बाद प्रसाद चढ़ाएं। अर्पित किए हुए बिल्व पत्रों अौर फूलों को तिजोरी में रख दें, बढ़ेगी जायदाद। 

 

नगकेसर, हल्दी, सुपारी, एक सिक्का, तांबे का टुकड़ा अौर अक्षत को कपड़े में बांध कर  लक्ष्मी पूजा में रखें। पूजा के पश्चात इस पोटली को तिजोरी में रख दें।

 

प्रतिदिन नागकेसर का तिलक लगाने से घर में होने वाले कलह से छुटकारा मिलता है।

 

कपड़े में नागकेसर लपेटकर तिजोरी में रखने से धन के आगमन में कभी कमी नहीं आती। 

 

नागकेसर से घर के बाहर अौर पूजा स्थल पर स्वस्तिक का चिन्ह बनाएं।