ऐसा जरूरी नहीं कि जब भी आपका पार्टनर सेक्स के लिए कहे आपका भी मूड उस वक्त वैसा ही हो। कई बार ऑफिस में देर तक काम करने के बाद घर आकर आप पूरी तरह से थक जाती हैं और अगर तभी पार्टनर प्यार भरी शरारत के मूड में हो तो आप क्या करेंगी? पार्टनर को साफतौर पर मना कर देंगी या फिर दिखावा करेंगी कि आपका मूड भी वैसा ही है? यकीन मानिए कई बार परिस्थितियां ऐसी बन जाती हैं कि आप चाहकर भी सीधे ना नहीं कह पातीं। ऐसे में हम आपको बता रहे हैं कुछ आसान तरीके जिसके जरिए आप पार्टनर को बड़े प्यार से सेक्स के लिए मना कर पाएंगी और उन्हें बुरा भी नहीं लगेगा...

पार्टनर को अचानक से मुंह पर ना बोलने की बजाए अपने मूड के बारे में हो सके तो उन्हें अडवांस में ही बता दें। इससे पहले की पार्टनर अपना नॉटी मूड बनाकर सेक्शुअल ऐक्ट के लिए आपकी ओर बढ़ें, उससे पहले ही उन्हें प्यार से बता दें कि आप बहुत ज्यादा थकी हुई हैं या फिर आपके पीरियड्स हैं। ऐसा करने से पार्टनर को न ही सेक्शुअली रिजेक्टेड महसूस होगा और ना ही उनका ईगो हर्ट होगा।

बेवजह के बहाने बनाने की बजाए पार्टनर के साथ ईमानदारी बरतें और सच्चाई बता दें कि आखिर क्यों आपका सेक्स का मूड नहीं है। साफतौर पर ना कहने की बजाए पार्टनर को बताएं कि ऑफिस में आपका दिन कितना बुरा रहा, बेस्ट फ्रेंड से आपकी लड़ाई हो गई या फिर आप कितनी थकी हुई हैं। जब एक बार पार्टनर इस बात को जान लेंगे कि किन वजहों से आप उन्हें मना कर रही हैं तो वह नाराज होने की बजाए आपको बांहों में भर लेंगे और आपकी परेशानियों को बांटने की कोशिश करेंगे।

चूंकि आज आपने ना कहकर पार्टनर का प्लान बिगाड़ दिया लिहाजा पार्टनर का मूड ठीक करने के लिए यह जरूरी है कि आप उन्हें इस बात का आश्वासन दें कि अगली बार कब आप दोनों फिर से करीब आ सकते हैं। उन्हें इस बात का अहसास दिलाएं कि आप उनसे कितना प्यार करती हैं और आप भी सेक्स के लिए बेहद एक्साइटेड हैं लेकिन इस वक्त नहीं फिर कभी...

सही समय पर की कई प्रशंसा और सराहना हमेशा काम आती है और यह बात सेक्स लाइफ पर भी लागू होती है। आपके पार्टनर ने आपके लिए जो समझौते किए हैं उनकी प्रशंसा करें और उसके लिए उन्हें धन्यवाद भी दें। ऐसा करने से पार्टनर खुश हो जाएंगे और आप दोनों का प्यार भर रिश्ता बरकरार रहेगा।

और आखिरकार जब आप दोनों करीब आएं तो पिछली बार आपने जब पार्टनर को मना किया था उस दिन की कमी को पूरा करने की कोशिश करें और उस खास पल को पार्टनर के लिए यादगार बना दें। कैंडल लाइट डिनर, पार्टनर का फेवरिट म्यूजिक...इन सब चीजों से पार्टनर का दिल जीतने की कोशिश करें।

अगर पार्टनर किसी वजह से परेशान है या गुस्से में है तो इस परिस्थिति से निपटने के कई तरीके हो सकते हैं। आप पार्टनर को शांत करवा सकते हैं, काउंटर अटैक शुरू कर सकते हैं, उनकी परेशानी की वजह पूछ सकते हैं या फिर माफी मांग सकते हैं। इस उम्मीद में की पार्टनर का मूड तुरंत ठीक हो जाएगा। हालांकि इनमें से कोई भी तरीका पार्टनर को पूरी तरह से इमोशनली शांत नहीं कर पाएगा। जिस एक चीज से आप पार्टनर का पूरा समर्थन कर सकते हैं वह है- इमोशनल वैलिडेशन यानी पार्टनर के भावनात्मक अनुभव को समझकर उसे स्वीकार करना। आगे की स्लाइड्स में जानें, किस तरह भावनात्मक रूप से परेशान पार्टनर को आप सपॉर्ट कर सकते हैं...

सबसे पहले बिना रोक-टोक किए पार्टनर की पूरी बात को ध्यान से सुनें ताकि आपके पास समस्या से जुड़े सारे तथ्य मौजूद हों। साथ ही ऐसा करने से पार्टनर को महसूस होगा कि आप उनकी फीलिंग्स को महत्व देते हैं।

पार्टनर को बताएं कि जो कुछ भी हुआ उसे आपने उनके दृष्टिकोण से समझ लिया है। आप भले ही पार्टनर के दृष्टिकोण से सहमत हों या न हों।

पार्टनर को बताएं कि जो कुछ भी हुआ उसके बाद उन्हें जैसा महसूस हो रहा है उसे आपने उनके नजरिए से समझ लिया है। यहां सामान्य बातें करने की बजाए निश्चित भावनाओं की बात करें।

पार्टनर को इस बात का एहसास दिलाएं कि उनके खुद के नजरिए से उनकी भावनाएं पूरी तरह से तर्कसंगत और वाजिब हैं।

अगर पार्टनर गुस्से में है या किसी बात से नाराज होकर तकलीफ महसूस कर रहा है तो उनकी इन भावनाओं के प्रति सहानुभूति व्यक्त करें। उन्हें समझाने की कोशिश करें कि चीजें हमेशा एक जैसी नहीं होतीं।