गोरखपुर में विशिष्ट व्यक्तियों और समारोहों के दौरान सड़क के किनारे गिराए जाने वाला चूना अब बीते दिन की बात हो जाएंगे.

 

चूने से उठने वाली गंध और आमजन को होने वाली दिक्कतों का संज्ञान सीएम योगी आदित्यनाथ ने ले लिया है. उन्होंने फरमान सुनाया है कि चूना डालने की इस व्यवस्था को समाप्त कर दिया जाए.

 

दरअसल सीएम के गोरखपुर दौरे के वक्त नगर निगम ने सड़कों पर चूना ​गिराने की परम्परा को कायम रखा था. पिछले गोरखपुर दौरे में सीएम योगी आदित्यनाथ की फ्लीट गुजरी तो सड़कों पर गिरे चूने का गुबार उठने लगा. इस गुबार से सड़क के किनारे खड़े लोगों को दिक्कत का सामना करना पड़ा.

 

सीएम ने जब इस समस्या को देखा तो नगर आयुक्त को बुलाकर संदेश दिया कि अब यह कल्चर नहीं चलेगा. इसके लिए ठोस इंतजाम किये जाएं और चूना गिराने की परम्परा को तत्काल खत्म किया जाए.

 

 

मामले में गोरखपुर के नगर आयुक्त प्रेम प्रकाश सिंह कहते हैं कि मुख्यमंत्री ने कहा कि गाड़ियों के गुजरने से सड़क पर छिड़के गए चूने और ब्लीचिंग आदि से लोगों को दिक्कत होती है. इसलिए इनका छिड़काव रोक दिया जाए.

 

उन्होंने कहा कि अब चूने और ब्लीचिंग की बजाए थर्मो प्लास्टिक पेंट लगाए जाने की चर्चा चल रही है. यह नुकसानदायक भी नहीं है.  वैसे मुख्यमंत्री के इस आदेश को आम लोगों ने खूब सराहा है. स्थानीय निवासी विनोद और आरिफ कहते हैं कि मुख्यमंत्री आम लोगों की तकलीफो को सड़क पर गुजरते हुए भी ख्याल रखते हैं.