15 दिनों तक हड़ताल करने वाले शिक्षाकर्मियों ने हड़ताल के बाद कोर्स पूरा कराने एक्स्ट्रा क्लास लेने की बात कही थी. सरकार ने भी बाकायदा एक घंटे अधिक क्लास लगाने का आदेश भी जारी कर दिया, लेकिन शिक्षक क्लास में नहीं दिखे.

 

सरकार के निर्देश का पालन गुरुवार से स्कूलों में होना था. आज ईटीवी की टीम ने जब जायजा लिया तो डूंडा के मिडिल स्कूल सुबह 09.30 बजे खुल तो गया था, लेकिन 3 कक्षाओं में से सिर्फ आठवीं कक्षा में शिक्षक नजर आए. बाकी कक्षा खाली थे और बच्चे मस्ती कर रहे थे.

 

हालांकि शिक्षक जरुर शासकीय कार्य का हवाला दे रहे हैं. स्कूल की प्रधान पाठक आरती लाटरे का कहना है कि कई शिक्षकों की ड्यूटी विभिन्न सरकारी कार्यों में लगाई गई है. इसके चलते वे समय पर स्कूल नहीं पहुंच पा रहे हैं. सरकार के ही निर्देश का पालन किया जा रहा है.