टीम इंडिया के स्टार तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह के दादाजी संतोख सिंह बुमराह का शव अहमदाबाद में बरामद किया गया. जसप्रीत की बुआ ने 8 दिसंबर को संतोख सिंह के लापता होने की रिपोर्ट दर्ज कराई थी. इसके बाद से उनकी तलाश की जा रही थी. पुलिस के अनुसार, 'साबरमती नदी के गांधी ब्रिज और दधीचि ब्रिज के बीच में बुजुर्ग संतोख सिंह का शव मिला. अहमदाबाद फायर ऐंड इमर्जेंसी सर्विस ने रविवार दोपहर उनका शव बरामद किया.'

 

84 वर्षीय संतोख सिंह उत्तराखंड से जसप्रीत से मिलने अहमदाबाद आए थे. संतोख सिंह अहमदाबाद में अपनी बेटी और जसप्रीत की बुआ रविंदर कौर के घर पर रुके थे. रविंदर कौर के अनुसार जसप्रीत की मां ने अपने बेटे को दादा से मिलने नहीं दिया. वे किसी को भी उनसे मिलने नहीं देती थी. संतोख सिंह और जसप्रीत की मां की कथित तौर पर अनबन है जिसके चलते उन्हें जसप्रीत से मिलने नहीं दिया गया. 

 

बुमराह की बुआ का दावा है कि बुमराह की मां ने उनके पिता को अपने पोते से मिलने नहीं दिया गया. बता दें कि जसप्रीत बुमराह अपनी मां और परिवार के साथ अहमदाबाद में रहते हैं. उनके पिता का निधन तब हो गया था जब वह सिर्फ 7 साल के थे. राजेंदर कौर का कहना है कि जसप्रीत बुमराह की मां जिस स्कूल में पढ़ाती हैं वहां भी वह मुलाकात के लिए गए थे.

 

कौर के अनुसार, 'जसप्रीत की मां ने उनसे मिलने से साफ इनकार कर दिया और कहा कि हमारे परिवार से कोई भी उनके बेटे से किसी तरह से संपर्क करने की कोशिश न करे. उन्होंने जसप्रीत का नंबर देने से भी इनकार कर दिया.' बता दें कि रविवार को जिस वक्त उनके दादाजी का शव मिला उस वक्त बुमराह टीम इंडिया की तरफ से धर्मशाला में मैच खेल रहे थे.