गुजरात में दूसरे चरण के लिए प्रचार अब अंतिम दौर में चल रहा है. सभी नेता वोटरों को लुभाने के लिए पूरी जोर-आजमाइश कर रहे हैं. इसी बीच कई नेताओं को विरोध का सामना भी करना पड़ रहा है. रविवार को केंद्रीय मंत्री पुरुषोत्तम रुपाला जब गुजरात के मेहसाणा में रैली करने पहुंचे तो उन्हें 5 मिनट में ही मंच से उतर कर वापस लौटना पड़ा.

 

विसनगर में रैली के दौरान पाटीदारों ने हंगामा कर दिया. जिस दौरान रुपाला स्टेज पर खड़े होकर भाषण दे रहे थे, तभी वहां पर करीब 200 से ज्यादा महिलाएं आ गईं और थाली-बेलन के साथ विरोध जताने लगीं. पाटीदार विसनगर विधायक ऋषिकेश पटेल का विरोध कर रहे थे. हंगामा बढ़ा तो केंद्रीय मंत्री ने कार्यक्रम छोड़कर जाना ही मुनासिब समझा.

 

गौरतलब है कि 14 दिसंबर को गुजरात में दूसरे चरण के लिए वोटिंग होनी है. पहले चरण के लिए 9 दिसंबर को वोट डाले जा चुके हैं, पहले चरण में 68 प्रतिशत वोटिंग हुई. आखिर दौर में सोमवार को गुजरात में कई रैलियां हैं, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी, बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह समेत कई दिग्गज रैलियां करेंगे.

 

दूसरे चरण के तहत 14 जिलों की 93 सीटों पर वोट डाले जाएंगे. इस बार उत्तर और मध्य गुजरात में चुनाव होने हैं, जहां पीएम मोदी का अपना गढ़ रहा है. 2014 के लोकसभा चुनाव में पीएम मोदी ने वाराणसी और वडोदरा से चुनाव लड़ा था और दोनों ही जगह से जीत दर्ज की थी.