आजकल लोगों में यूरिक एसिड बढ़ने की समस्या आम हो गई है। खून में यूरिक एसिड की मात्रा बढ़ जाने पर आपको घुटनों, एडियों, पैरों और उंगलियों में दर्द का सामना करना पड़ता है। शरीर में यूरिक एसिड की मात्रा ज्यादा होने पर आपको कई और गंभीर बीमारियों का सामना करना पड़ सकता है। हाल ही एक शोध में बताया गया है कि यूरिक एसिड लेवल हाई होने पर गठिया और किडनी स्टोन जैसी समस्याओं का बढ़ जाता है। आज हम आपको बताएंगे शरीर में यूरिक एसिड के बढ़ने से किन बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है।

 


1. गठिया

शरीर में यूरिक एसिड के छोटे-छोटे क्रिस्टल हाथों-पैरों के ज्वाइंट्स में जमा होते है। इससे गठिया रोग होने का खतरा रहता है। इससे आपको हाथों पैरों में जकड़न महसूस होने लगती है।


2. किडनी स्टोन

यूरिक एसिड के क्रिस्टल्स यूरिन नली में जमा हो जाते है। इससे किडनी स्टोन की समस्या हो सकती है। इससे यूरिन में खून आने और पीठ दर्द जैसे लक्षण दिखाई देते है।


3. दिल के रोग

एक शोध में बताया गया है खून में यूरिक एसिड की मात्रा बढ़ने से दिल के रोगों का खतरा बढ़ जाता है। इसके अलावा यूरिक लेवल ज्यादा हाई होने पर हार्ट अटैक भी आ सकता है।


4. डायबिटीज

खून में यूरिक एसिड बढ़ने और घटने से इन्सुलिन का बैलेंस बिगड़ जाता है। इन्सुलिन का बैलेंस बिगड़ने पर डायबिटीज का खतरा भी बढ़ जाता है।


5. हाइपरटेंशन

एक स्टडी के मुताबिक शरीर में बीपी या हाइपरटेंशन की समस्या का एक कारण यूरिक एसिड भी है। महिलाओं और प्रैग्नेंसी में यूरिक एसिड से बीपी बढ़ने का खतरा सबसे ज्यादा होता है।