दुनिया का सबसे बड़ा टेलीस्कोप, जिसके आकार को देखकर ही आपकी आंखें खुली रह जाएगी। इसकी तस्वीर से ही आप अंदाजा लगा सकते हैं कि यह कितना बड़ा होगा। लेकिन क्या आप ये जानते हैं कि इतना बड़ा टेलीस्कोप बनाने में कितना समय खर्च हुआ होगा..? 

इसे बनाने में पूरे 17 साल लगे हैं। इसे धरती का सबसे विशाल टेलीस्कोप बताया जाता है। कहते हैं कि जब इसका निर्माण हो रहा था यह तभी से चर्चा में आ गया था। क्योंकि इससे पहले इतना विशाल टेलिस्कोप बनाया ही नहीं गया था। 

इसका आकार फुटबॉल के 30 मैदानों के बराबर है। टेलिस्‍कोप में 4450 त्रिकोण आकार के पैनल लगे हैं। एक पैनल की लंबाई करीब 36 फीट है। इसे बनाने का कार्य मार्च 2011 में शुरू हुआ था और सितंबर 2016 में पूरा हुआ था। इसे बनाने में करीब 12 अरब रुपए यानि 124 मिलियन पौंड की लागत लगी है। 

बता दें यह टेलीस्कोप चीन ने बनाया है। इस टेलिस्‍कोप की खासियत बताई जाती है कि यह एलियंस को खोज निकालने की क्षमता रखता है। 2016 में अपार्चर स्फेरिकल रेडियो टेलीस्कोप (फास्ट) टेलीस्कोप के नाम से इसे चालू किया गया। 

इसे एलियन खोजी टेलीस्कोप इसलिए कहा जाता है क्योंकि ये टेलिस्‍कोप विभिन्‍न आकाशगंगाओं और ग्रहों में जीवन खोजने में सक्षम है। 


यह चीन में गुझाऊ प्रांत के दक्षिण-पश्चिमी पहाड़ियों में स्थापित है। तकनीक या उपकरणों का अभाव नहीं था, दरअसल, इस टेलीस्कोप के लिए अनुकूल जगह तलाशने में ही वैज्ञानिकों को 17 साल लग गए।