इस्लामाबाद  पाकिस्तान ने कहा है कि मानवीय आधार पर कुलभूषण जाधव की पत्नी और मां की यात्रा को लेकर वीजा आवेदन मिले हैं और ये अभी प्रक्रिया में हैं। हालांकि इससे पहले पाक मीडिया रिपोर्टों में कहा गया था कि पाक जेल में बंद जाधव 25 दिसंबर को अपनी पत्नी और मां से मिलेंगे। इसके बाद विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने जाधव की मां और पत्नी को भी इसकी जानकारी दे दी थी। गौरतलब है कि कथित तौर पर जासूसी के आरोप में पाक की एक अदालत ने भारतीय नौसेना के पूर्व कमांडर कुलभूषण जाधव को फांसी की सजा सुनाई है। 

सुषमा ने ट्वीट कर बताया था, 'पहले पाकिस्तान सिर्फ जाधव की पत्नी को वीजा देने पर राजी था। हमने पाक से जाधव की मां को भी वीजा देने के लिए कहा था। हमने जाधव की मां और पत्नी की पाकिस्तान में सुरक्षा को लेकर भी चिंता जाहिर की थी।' 


विदेश मंत्री ने आगे बताया था कि पाक ने जाधव की पत्नी और मां को आने की इजाजत दे दी है और उनकी सुरक्षा सुनिश्चित करने का पूरा आश्वासन भी दिया है। हालांकि अब पाक विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता मोहम्मद फैसल द्वारा ट्वीट कर आवेदन के प्रक्रिया में होने की बात करने से संदेह पैदा हो गया है। जाधव नौसेना के रिटायर्ड कमांडर हैं। 3 मार्च 2016 को पाक खुफिया एजेंसी ने उन्हें अवैध तरीके से देश में घुसने और जासूसी करने के आरोप में गिरफ्तार किया था। इसी साल अप्रैल में एक सैन्य अदालत ने कुलभूषण को फांसी की सजा सुनाई थी। इस सजा के खिलाफ भारत सरकार ने इंटरनैशनल कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था, जहां जाधव की फांसी पर अगली सुनवाई तक रोक लगा दी गई है।