बीजेपी के पूर्व विधायक प्रेम प्रकाश उर्फ जिप्पी तिवारी के बेटे वैभव तिवारी हत्याकांड मामले में पुलिस ने रविवार देर रात हत्या के आरोपी व‍िक्रम स‍िंह और सूरज शुक्ला पर 20-20 हजार रुपए का इनाम घोष‍ित क‍िया है. पुलिस के मुताबिक वैभव की हत्या की साजिश उसी के दोस्त सूरज ने रची थी और वारदात को अंजाम हिस्ट्रीशीटर विक्रम सिंह ने दिया था.


डुमरियागंज के पूर्व विधायक प्रेम प्रकाश उर्फ जिप्पी तिवारी के 28 वर्षीय बेटे की शनिवार को लखनऊ के हजरतगंज स्थित कसमंडा हाउस के बाहर गोली मारकर हत्या कर दी गई थी. वैभव बीजेपी नेता जिप्पी तिवारी की इकलौती संतान था.


7 लाख रुपये के विवाद में हुई वैभव की हत्या:


सूत्रों की माने तो वैभव उर्फ विभू की हत्या सात लाख रुपये के लेनदेन के विवाद में की गई थी. पुलिस की पूछताछ में हत्या आरोपी सूरज शुक्ला के पिता संतोष शुक्ला ने यह जानकारी दी. उन्होंने बताया कि डेढ़ साल से रुपये के लेनदेन को लेकर सूरज व वैभव में तनातनी थी. उन्होंने बेटे को रुपये भूल जाने के लिए भी कहा था, लेकिन वह नहीं माना और अनहोनी हो गई.



बता दें, कि वैभव तिवारी का शनिवार रात ही पोस्टमॉटर्म हो गया था. जहां रव‍िवार सुबह पूरा परिवार, रिश्तेदार और दोस्तों के साथ अयोध्या में अंतिम संस्कार कर दिया गया. वहीं अंतिम संस्कार में फैज़ाबाद- सिद्धर्थनगर जिले समेत पूर्वांचल के कई नेता मौजूद थे.