केन्‍या। अखबारों और सोशल मीडिया में आए दिन महिलाओं के प्रति हो रही हिंसा की खबरें सुनकर ये लग सकता है कि कोई एक ऐसी जगह हो जहां पुरुष का नामो निशान न हो।


हममें से कई ने इसके बारे में कभी ना कभी सोचा होगा। आपको जानकर हैरत होगी कि वास्‍तव में दुनिया में ऐसी एक जगह है जहां पुरुषों का प्रवेश निषेध है। यह जगह केन्‍या में उमोजा नाम का एक गांव है।


यहां 50 महिलाएं और 200 बच्‍चे बिना किसी पुरुष की मौजूदगी के निवास करते हैं। यहां पुरुषों का आना मना है।


यह गांव 1990 में यौन हिंसा से बचे हुए लोगों ने बसाया था। बाल विवाह, घरेलू हिंसा, लैंगिक विकृति और दुष्‍कर्म जैसे अपराधों से बचकर निकली महिलाओं ने इस गांव को बसाया था।


पितृसत्‍तात्‍मक समाज के बिना भी वे यहां खुशी-खुशी जीवन व्‍यतीत कर रही हैं।


वे खुश हैं कि उनके साथ जानवरों जैसा बरताव नहीं किया जाता। अब यह गांव दूसरे गांवों के लिए भी प्रेरणा बना हुआ है।


हालांकि उन्‍हें समय-समय पर पुरुषों समूहों की ओर से दबाव आता है लेकिन उन्‍होंने अभी तक यहां किसी को नहीं आने दिया है।


इन महिलाओं के साहस को सलाम करने के साथ ही हमारे मन में क्‍या ये भाव नहीं आता कि पुरुषों को प्रतिबंधित करने के अलावा उनके पास कोई चारा न था।