यूपी में बीती रात तीन जगह पुलिस और बदमाशों के बीच मुठभेड़ हुई है। गोरखपुर, आजमगढ़ और सहारनपुर में मुठभेड़ हुई है। इस मुठभेड़ में 25 हजार का ईनामी बदमाश मारा गया। आजमगढ़ में बीती रात मुठभेड़ में बदमाश छ्न्नु सोनकर को गोली लगी। छन्नु पर एक दर्जन लोगों की हत्या और लूट का आरोप है। इस मुठभेड़ में एस ओ जहानागंज अंगद तिवारी की बुलेट प्रूफ जैकेट में भी गोली लगी और एक सिपाही सुभाष को भी गोली लगी।

गोरखपुर में मुठभेड़ 

पुलिस पर फ़ायरिंग कर भाग रहे शातिर बदमाश को सोमवार की आधी रात में पुलिस मुठभेड़ में क्राइम ब्रांच और ख़ोराबार पुलिस ने सिक़्टौर के पास से दबोच लिया। पुलिस की जवाबी फ़ायरिंग में बदमाश के पैर में गोली लगी है। उसे जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। वहीं उसका एक साथी फ़रार हो गया है।

घायल बदमाश की पहचान 30 वर्षीय अमित के रूप में हुई है। उसके  बाएं पैर में घुटने के नीचे गोली लगी है। उसका एक साथी पुलिस से बचकर भाग निकला है। उसकी तलाश की जा रही है। अमित के पास से नाइन एमएम पिस्टल और उसकी बाइक बरामद हुई है। 

सीओ कैंट ने बताया कि राजघाट थानेदार रात में साढ़े दस बजे के आसपास ट्रांसपोर्टनगर में वाहन चेकिंग कर रहे थे। उसी दौरान दो युवक बाइक से आते हुए दिखाई दिए। रुकने का इशारा करने पर उन्होंने बाइक की रफ्तार बढ़ा दी और पैडलेगंज की तरफ भागने लगे। पुलिस के पीछा करने पर पैडलगंज से सर्किट हाउस रोड होते हुए सिक्टौर की तरफ भागने लगे।

इस बीच वायरलेस पर बदमाशों के भागने की सूचना प्रसारित होने पर खोराबार और कैंट पुलिस ने सिक्टौर के पास पहुंचकर बदमाशों को पकडऩे के लिए दूसरी तरफ से घेराबंदी कर ली थी। दोनों तरफ से घिरने पर बदमाशों ने पुलिस टीम पर गोली चलानी शुरू कर दी। जवाबी जवाबी कार्रवाई में एक बदमाश गोली लगने घायल हो गया लेकिन उसका साथी अंधेरे में पैदल ही भाग निकला।

बाद में घायल बदमाश की पहचान खोराबार के मंझरिया बिस्टौल गांव निवासी अमित के रूप में हुई। पुलिस का दावा है कि खोराबार इलाके में हुई लूट की एक घटना में वह वांछित चल रहा था। जनपद के विभिन्न थानों में उसके खिलाफ लूट व छिनैती के आधा दर्जन से अधिक मुकदमे दर्ज हैं। उसके विरुद्ध गैंगेस्टर की कार्रवाई हुई थी। नवम्बर में जमानत पर छूट कर जेल से बाहर आया था।