नई दिल्लीः चालू वित्त वर्ष के शुरुआती नौ माह में प्रत्यक्ष कर वसूली 18.2 प्रतिशत बढ़कर 6.56 लाख करोड़ रुपए पर पहुंच गई। वित्त मंत्रालय ने यह जानकारी दी है। वित्त मंत्रालय की आज यहां जारी विज्ञप्ति के अनुसार अप्रैल से दिसंबर 2017 की अवधि के अस्थाई आंकड़ों के मुताबिक प्रत्यक्ष कर वसूली 18.2 प्रतिशत बढ़ी है। प्रत्यक्ष कर में व्यक्तिगत आयकर, संपत्ति कर और कंपनी कर शामिल होता है।


विज्ञप्ति में कहा गया है, ‘‘नौ माह के दौरान प्रत्यक्ष कर वसूली पूरे वर्ष के बजट अनुमान का 67 प्रतिशत रही। वर्ष 2017-18 के बजट में प्रत्यक्ष करों से कुल 9.8 लाख करोड़ रुपए की कर वसूली का अनुमान लगाया गया है।’’ विज्ञप्ति के अनुसार अप्रैल से दिसंबर 2017 की अवधि में सकल प्रत्यक्ष कर वसूली (रिफंड से पहले) 12.6 प्रतिशत बढ़कर 7.68 लाख करोड़ रुपए रही। इस दौरान 1.12 लाख करोड़ रुपए का रिफंड जारी किया गया।


वित्त मंत्रालय के अनुसार इस अवधि में अग्रिम कर वसूली 12.7 प्रतिशत बढ़कर 3.18 लाख करोड़ रुपए रही है। विज्ञप्ति में कहा गया है कि आलोच्य अवधि में कंपनी कर की अग्रिम प्राप्ति वृद्धि 10.9 प्रतिशत रही वहीं व्यक्तिगत आयकर में अग्रिम प्राप्ति में 21.6 प्रतिशत वृद्धि दर्ज की गई।