गुजरात के जयेश कुमार की ओर से राजस्थान हाईकोर्ट में दायर दूसरी अग्रिम जमानत याचिका भी खारिज कर दी गई है. राजकोट के रहने वाले आरोपी की गिरफ्तारी से बचने की यह दूसरी कोशिश भी नाकाम रही है. जयेश पर बेटे की पत्नी यानि बहू का ईमेल हैक करने और उसके लैपटॉप में सेक्स वीडियो और फोटोज अपलोड करने का आरोप है.


इसी मामले में आरोपी ने दूसरी अग्रीम जमानत याचिका मंगलवार को राजस्थान हाईकोर्ट के जस्टिस मनोज गर्ग ने खारिज कर दी. गिरफ्तारी से बचने के प्रयास में पीड़िता के आरोपी ससुर ने यह याचिका कोर्ट में पेश की थी.


आरोप है कि जयेश ने सबसे पहले तो अपनी साली के साथ अवैध संबंध स्थापित किए और उसके बाद अपनी साली के साथ खुद का एक अश्लील वीडियो बनाकर बहू के लैपटॉप में अपलोड कर दिया. साथ ही जीमेल अकाउंट हैक कर वहां भी अपलोड कर दिया.


पीड़िता के अधिवक्ता रमेश पुरोहित ने बताया कि पीड़िता राजसमंद की रहने वाली है. उसने राजसमंद के महिला थाने में अपने ही ससुर, पति सहित अन्य पर आईटी एक्ट और दहेज प्रताड़ना का केस दर्ज किया था. गिरफ्तारी से बचने के लिए आरोपी जयेश कुमार ने राजस्थान हाईकोर्ट में पिछले माह भी अग्रिम जमानत का प्रयास किया था, लेकिन जस्टिस महेन्द्र माहेश्वरी ने उसे खारिज किया था. पच्चीस दिन बाद दोबारा हाईकोर्ट में अग्रिम जमानत के लिए आवदेन दिया गया. कोर्ट ने इस बार भी अर्जी खारिज कर दी.



जस्टिस मनोज गर्ग ने सुनवाई के बाद अग्रिम जमानत को खारिज कर दिया. पीडिता ने आरोपी लगाया था कि उसके ससुर जयेश कुमार ने पीडिता के जीमेल एकाउंट को हैक कर लिया. उसके पीड़िता के मोबाइल और लेपटॉप पर ससुर ने अपनी और उसकी साली यानि मासी सास के अश्लील वीडियो क्लिप डाल दिए थे.