राजस्थान के बहुचर्चित आनंदपाल एनकाउंट केस में बुधवार से सीबीआई ने जांच शुरू कर दी है. सीबीआई की एक टीम चूरू के रतनगढ़ स्थित मालासर गांव पहुंची और करीब 2 घंटे तक एनकांटर की जगह पर जांच-पड़ताल की. सीबीआई के अधिकारियों ने श्रवण सिंह और परिजनों से पूछताछ भी की. मालूम हो, आनंदपाल श्रवणसिंह के घर में ही छिपा हुआ था और वहीं पर पुलिस ने उसे पिछले साल 24 जून को एक मुठभेड़ में मौत के घाट उतारा था.


सीबीआई ने आनंदपाल एनकाउंटर मामले में राजस्थान की सिफारिशों के बाद तीन केस दर्ज किए हैं. 6 जनवरी को दर्ज इन मामलों में पहला मामला अानंदपाल एनकाउंटर से जुड़ा है, दूसरा सांवराद में सभा के दौरान सुरेन्द्र सिंह राठौड़ की मौत  और तीसरा राजपूत नेताओं पर दंगा भड़काने, गैर कानूनी तरीके से भीड़ को जमा करने और अपहरण का प्रयास करने आरोप में दर्ज केस से जुड़ा है.


गौरतलब है आनंदपाल एनकाउंटर मामले में सीबीआई जांच कराने के लिए राज्य सरकार ने पिछले साल दिसंबर में दूसरी बार सीबीआई को पत्र लिखा था. इस मामले की जांच के लिए सरकार की ओर से पहले की गई मांग को सीबीआई ने खारिज कर दिया था. केस दर्ज होने के बाद बुधवार को दो गाड़ियों में सीबीआई के करीब 10 अधिकारी मालासर पहुंचे और पूछताछ के बाद वापस लौट गए.