तीर्थ राज प्रयाग में 20 जनवरी को परेड मैदान में लगे विश्व हिन्दू परिषद के शिविर में संत सम्मेलन आयोजित होगा.


इसमें धर्मान्तरण रोकने, गौ हत्या बन्द करने, गंगा को अविरल और निर्मल बनाने के साथ ही अयोध्या में भव्य राम मंदिर के निर्माण पर संत चर्चा करेंगे.


संत सम्मेलन से पहले 17 जनवरी को धर्म प्रसार विभाग की प्रान्तीय बैठक होगी, जिसमें धर्मान्तरण रोकने, आतंकवाद और कट्टरता से समाज को बचाने के मुद्दे पर चर्चा होगी.


17 और 18 जनवरी को ही मातृशक्ति व दुर्गा वाहिनी का प्रान्त स्तरीय सम्मेलन आयोजित किया जायेगा. इसके साथ ही 18 और 19 जनवरी को अखिल भारतीय संत चिंतन वर्ग आयोजित होगा. 19 जनवरी को ही विहिप के केन्द्रीय मार्ग दर्शक मण्डल की भी बैठक होगी.



जिसमें विहिप के अन्तर्राष्ट्रीय संगठन महामंत्री दिनेश, विहिप के अन्तर्राष्ट्रीय महामंत्री चंपत राय के साथ ही केन्द्रीय पदाधिकारी शिरकत करेंगे.


20 जनवरी को विहिप के शिविर में संत सम्मेलन आयोजित होगा, जिसमें देश भर के लगभग 115 संतों के साथ ही विहिप के अन्तर्राष्ट्रीय संगठन महामंत्री दिनेश, विहिप के अन्तर्राष्ट्रीय महामंत्री चंपत राय, राम जन्म भूमि न्यास के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपाल दास और स्वामी वासुदेवानन्द भी शिरकत करेंगे.


संत सम्मेलन पर लोगों की निगाहें रहेंगी क्योंकि इसमें कई बड़े मुद्दों जैसे धर्मान्तरण रोकने, गौ हत्या बन्द करने, गंगा को अविरल और निर्मल बनाने के साथ ही अयोध्या में भव्य राम मंदिर के निर्माण पर संत विचार विमर्श के बाद प्रस्ताव पास करेंगे.


विहिप के लखनऊ क्षेत्र के धर्म प्रचार प्रमुख सुदर्शन महाराज के मुताबिक 23 जनवरी को बजरंग दल का प्रान्तीय सम्मेलन भी आयोजित किया जायेगा.