बॉलीवुड के सितारों की कामयाबी का रास्ता अजमेर से होकर गुज़रता है. यही वजह है कि लोग सूफी संत हज़रत ख्वाजा मोइनुद्दीन हसन चिश्ती की बारगाह में हाज़री लगाते हैं और उसी के बाद अपनी फिल्म या धारावाहिक का आगाज़ करते है. इसकी एक ख़ास वजह वो काला धागा है जो हमेशा इन स्टार्स की कलाई पर बंधा रहता है. फिल्मी दुनिया की मशहूर हस्तियों की कामयाबी का दरवाज़ा अजमेर शरीफ दरगाह है, यही से बॉलीवुड के सितारे चमकते हैं तो आसमान की बुलंदियों को छूते नज़र आते हैं. इस मुक़द्दस बारगाह को ख्वाजा गरीब नवाज का आस्ताना कहते हैं. इसी दर पर आकर बॉलीवुड के सुपर स्टार बने कई कलाकार अपना माथा टेकते हैं. ख्वाजा साहब के दरबार में इन कलाकारों की हाज़री के बाद काले धागे से एक मजबूत रिश्ते में तब्दील हो जाती है और दरबार का काला धागा इन्हें बुरी नज़र से बचाता है.


दुश्मनों से सलामती के साथ-साथ ख्वाजा साहब से ए काली डोरी का धागा रिश्ता बनाए रखता है. दरगाह के ख़ादिम और बॉलीवुड के लोगों के मुताबिक सभी छोटे बड़े कलाकार ख्वाजा गरीब नवाज की दरगाह में बेहद अक़ीदा रखते हैं और जब भी कोई नई फिल्म या धारावाहिक को बनाते हैं तो मन्नत के लिए अजमेर आकर जन्नती दरवाजा पर धागा भी बांधते हैं. इसी तरह ख्वाजा साहब से हमेशा नज़दीकी और उनका करम बना रहे इसके लिए अपने गले और कलाई पर काला धागा भी बंधवाते हैं ताकि उनके कारोबार और फ़िल्म निर्माण से लेकर कलाकारी में किसी की बुरी नज़र ना पड़े.


अजमेर शरीफ दरगाह में बिग बी अमिताभ बच्चन, सलमान खान, शाहरुख खान, आमिर खान, अक्षय कुमार, जितेंद्र, अभिषेक बच्चन, इमरान हाशमी, जैकी श्रॉफ, राज बब्बर, अजय देवगन, बॉबी देओल और इसी तरफ फ़िल्म अभिनेत्रियों में सोनाक्षी सिन्हा, ऐश्वर्या रॉय, कैटरीना कैफ, दीया मिर्जा, दीपिका पादुकोण, ईशा देओल, कंगना रनौत, मनीषा कोइराला, जया प्रदा और विद्याबालन, काजोल की तरह कई कलाकार हाजिरी लगा चुके हैं.


यही वजह है कि कहा जाता है बॉलीवुड में कामयाबी का रास्ता अजमेर से हो कर गुजरता है और यही वजह है कि अजमेर दरगाह में मन्नत का धागा भी बांधा जाता है तो बद निगाहों से बचने के लिए काला धागा भी कलाकारों की कलाई पर नज़र आता है.