टोंक जिला मुख्यालय के काली पल्टन क्षेत्र में तीन दिन पूर्व दो पक्षों में हुए संघर्ष व तनाव के बाद वहां बुधवार की रात एक बार फिर दो पक्षों में संघर्ष होने की अफवाह फैल गई जिससे क्षेत्र में तनाव व भगदड़ का माहौल बन गया. रात लगभग 9.30 बजे फैली संघर्ष की अफवाह के बाद यहां एक बार फिर दोनों पक्षों के सैकड़ों लोग इकठ्ठे हो गए. मामले की जानकारी मिलते ही कोतवाली थाना पुलिस मौके पर पहुंची. वहां लोगों की भीड़ उग्र न हो जाए इस आशंका के मद्देनजर वहां बड़ी संख्या में पुलिस बल के अलावा आरएसी के जवान भी तैनात कर दिए  गए.


मामले की गंभीरता को देखते हुए तीन थानों के थानाधिकारी, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अवनीश शर्मा व पुलिस अधीक्षक प्रीति जैन मौके पर पहुंची व लोगों से अफवाहों पर ध्यान नहीं देते हुए अपने- अपने घरों को लौट जाने की अपील की. पुलिस अधीक्षक सहित पुलिस के सभी आला अधिकारी यहां रात 12 बजे तक डेरा डाले रहे.


कोतवाली के थानाधिकारी अशोक मीणा ने बताया कि काली पल्टन क्षेत्र में किसी अंसारी परिवार के यहां विवाह समारोह चल रहा था. उसी दौरान एक ही समुदाय के दो युवकों में आपस में मारपीट हो गई. मीणा के अनुसार इसी बात को लेकर क्षेत्र में अफवाहों का बाज़ार गर्म हो गया और यहां लोगों की भारी भीड़ इकठ्ठी हो गई. हालांकि पुलिस ने यहां से कुछ शरारती तत्वों को हिरासत में भी लिया  है.