राजस्थान के जोधपुर जिले में एक युवा महिला पुलिस कांस्टेबल को पिछले कई दिनों से जान का खतरा था. उसने पुलिस आला अफसरों से पुलिस प्रोटेक्शन भी मांगा था लेकिन उसकी किसी ने मदद नहीं की. आखिर बुधवार रात को उसने पंखे से फंदा डालकर खुदकुशी कर ली.


वर्ष 2015 बैच की महिला कांस्टेबल सरोज मेघवाल को किसी ओर से नहीं अपने ही घरवालों यानि पिता, चाचा और भाइयों से जान का खतरा था. इसकी वजह भी सरोज ने मरने से पहले एक वीडियो बनाते हुए खुलकर बताई है.


जोधपुर के ओसिया गांव में खुदकुशी करने वाली सरोज किसी लड़के से प्यार करती थी और शादी करना चाहती थी, लेकिन उसके परिवार को यह रिश्ता पसंद नहीं था और यही वजह थी कि जिसकी वजह से उसकी जान का खतरा था.


मौत से पहले सरोज ने जो वीडियो बनाया, उसमें अपनी परेशानी और पीड़ा साफ-साफ बयां की थी. सिरमंडी गांव रहने वाली कांस्टेबल सरोज मेघवाल ने वीडियो में बताया कि उसका बाल विवाह कर दिया गया था, जिसे वह नहीं मानती. नाबालिग होने से उसे यह विवाह मंजूर नहीं है, लेकिन परिवार उसे उस लड़के के साथ भेजने के लिए दबाव डाल रहा है जिससे बाल विवाह हुआ था.



वीडियो में महिला पुलिस कांस्टेबल ने अपने प्रेमी का भी जिक्र किया है, जिसके साथ वह शादी करना चाहती थी. महिला ने आत्महत्या से पहले बनाए वीडियो में उससे अपने प्रेम को स्वीकार किया है.


गौरतलब है सरोज जोधपुर कमिश्नरेट में तैनात थी. पुलिस ने गुरुवार को शव का ओसियां सीएचसी में पोस्टमार्टम करवाकर उसे परिजनों के सुपुर्द कर दिया है. एसएचओ ओसिया थानाधिकारी नेमाराम ने बताया कि शव का पोस्टमार्टम करवाने के बाद अब पुलिस ने जांच शुरू कर दी है.


पुलिस यह भी बताया कि महिला की मानसिक स्थिति खराब थी. इस संबंध में मृतका के भाई ने ओसियां पुलिस थाने में रिपोर्ट दर्ज करवाई है.