भोपाल। आयकर विभाग ने आज सुबह ओरिएंटल ग्रुप के कालेज, घर और आफिस समेत जबलपुर, इंदौर में छापा मारा है। इसके साथ ही राजधानी के बड़े बीमा एजेंट दिलीप कुमार गुप्ता और उसके सहयोगी राजेंद्र पवार के ठिकानों पर भी छापे की कार्रवाई चल रही है। छापे में करोड़ रुपए की कर चोरी पकड़े जाने की आशंका है। आयकर अफसरों की टीम ने 15 ठिकानों पर की जा रही कार्रवाई में भारी संख्या में दस्तावेज जब्त किए हैं।  रायसेन रोड पर स्थित ओरिएंटल कालेज के संचालक प्रवीण ठकराल के कालेज, कार्यालय और निवास पर भारी पुलिस बल की मौजूदगी में छापे की कार्रवाई शुरू हुई है। जांच टीम ने इन स्थानों से लाखों रुपए नकदी, जमीन और कालेज के दस्तावेज समेत लेन देन के कागजात जब्त किए हैं। इस कार्रवाई में करोड़ों रुपए की कर चोरी सामने आने की उम्मीद जताई जा रही है। इधर आयकर अफसरों की एक टीम बीमा एजेंट दिलीप कुमार गुप्ता के एमपी नगर जोन-2 स्थित कार्यालय और निवास पर भी दस्तावेज खंगाल रही है। इसके साथ ही दिलीप के सहयोगी राजेंद्र पवार के यहां भी जांच की कार्रवाई चलने की सूचना है। दोनों के ठिकानों से बीमा के नाम पर किए जाने वाले घालमेल में कर चोरी का खुलासा होना तय माना जा रहा है।

राजनीति फिल्म में अमिताभ के साथ किया है काम

 

ओरिएंटल ग्रुप के प्रमुख केएल ठकराल प्रकाश झा निर्देशित फिल्म राजनीति में अमिताभ बच्चन के साथ भी काम कर चुके हैं। इनके यहां आयकर के 50 से अधिक अफसरों व कर्मचारियों की टीम दस्तावेजों की जांच पड़ताल कर रही है। इनकी एक यूनिवर्सिटी समेत कालेजों में भी कार्रवाई चल रही है। ठकराल के ठिकानों पर जांच के दौरान प्रवेश के नाम पर वसूली जाने वाली फीस में हेराफेरी से भी बड़ी संख्या में कर चोरी का खुलासा होने की उम्मीद जताई जा रही है।


बीमा एजेंट के होर्डिंग शहर में : एलआईसी के बीमा एजेंट दिलीप कुमार गुप्ता के होर्डिंग शहर में जहां तहां लगे रहते हैं। इसमें हर साल मार्च और अप्रेल के वित्त वर्ष के  समापन व शुरुआत के दौरान करोड़ों रुपए का बीमा करने और एलआईसी में सर्वाधिक परफार्मेंस बताने वाले के रूप में गुप्ता के बारे में जानकारी दर्ज रहती है। इस कारण गुप्ता की गिनती शहर के नामी बीमा एजेंटों के रूप में होती है।


बिल्डर-माइनिंग में भी सक्रिय गुप्ता : सूत्रों के मुताबिक बीमा एजेंट गुप्ता प्रदेश में टाप टेन एलआईसी एजेंट में गिने जाते हैं। इनका चूनाभट्टी में करोड़ों रुपए का आलीशान मकान है। इनके द्वारा कई बिल्डरों के साथ पार्टनर के तौर पर जमीन के कारोबार में निवेश किया गया है। इन सबकी जांच आयकर अफसरों की टीम कर रही है। गुप्ता छतरपुर समेत कई जिलों में माइनिंग करोबार में भी लिप्त है।