शामली देश में ट्रेन दुर्घटनाएं थमने का नाम नहीं ले रही हैं. अब उत्तर प्रदेश के शामली में दिल्ली-सहारनपुर पैसेंजर ट्रेन हादसे का शिकार हो गई. इंजन सहित ट्रेन की छह बोगी पटरी से उतर गईं. गनीमत रही कि इस हादसे में कोई हताहत नहीं हुआ. इस घटना के चलते दिल्ली और सहारनपुर आने-जाने वाली आधा दर्जन ट्रेन बाधित हो गई हैं.


इतनी संख्या में ट्रेन बाधित होने से यात्रियों को खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है. बताया जा रहा है कि स्टेशन पर शंटिंग के दौरान यह हादसा हुआ. इससे पहले गुरुवार को निजामुद्दीन एक्सप्रेस गोवा दुर्घटनाग्रस्त हो गई थी. इसका इंजन पटरी से नीचे उतर गया था. हालांकि चालक की सूझबूझ और सतर्कता के चलते कोई हताहत नहीं हुआ था. दरअसल, महाराष्ट्र के अहमदनगर रेलवे स्टेशन से मनमाड स्टेशन की ओर तकरीबन 30 किमी की दूरी पर घारगाव में एक छोटे से रेल ब्रिज का निर्माण कार्य पूरा होने के बाद ट्रेन को हरी झंडी दिखा दी गई थी.


इसके बाद निजामुद्दीन गोवा एक्सप्रेस उस छोटे से रेल ब्रिज (Subway) से गुजर रही थी कि अचानक पटरी का एक हिस्सा टूट गया. इस पर ट्रेन के चालक ने बेहद सूझबूझ का परिचय दिया और सतर्कता दिखाते हुए ब्रेक लगा दी. इससे बड़ा हादसा तो टल गया था, लेकिन ट्रेन का इंजन पटरी से एक मीटर नीचे उतकर गया था.


इस घटना की जानकारी मिलते ही रेलवे प्रशासन फौरन हरकत में आया और निजामुद्दीन गोवा एक्सप्रेस के इंजन को छोड़कर पीछे की सभी बोगियों को पिछले स्टेशन विसापुर पहुंचा दिया गया था. इससे भी पहले 19 अगस्त 2017 को मुजफ्फरनगर में बड़ा ट्रेन हादसा हुआ था. मुजफ्फरनगर के खतौली रेलवे स्टेशन पर पुरी-हरिद्वार उत्कल एक्सप्रेस ट्रेन दुर्घटनाग्रस्त हो गई थी. इसमें 23 लोगों की जान चली गई थी, जबकि 40 लोग  गंभीर रूप से घायल हो गए थे. इसके अलावा 66 लोगों को मामूली चोटें आई थीं.