इंदौर । महज दो साल पहले एकेवीएन के इनक्युबेशन सेंटर में शुरू हुए स्टार्टअप में से तीन अब अंतरराष्ट्रीय कंपनी बन रहे हैं। क्रिस्टल आईटी पार्क स्थित इनक्युबेशन सेंटर 'सृजन' से शुरू हुए निर्मया मेनेग्लेट का अधिगृहण 15 देशों में काम कर रही कंपनी 'प्रेक्टो' ने कर लिया है। एक अन्य आईटी कंपनी निसपाइप टेक्नोलॉजी की अंतरराष्ट्रीय कंपनी अनबाउंस के साथ साझेदारी तय हो चुकी है। प्रदेश के पहले इनक्युबेशन सेंटर के लिए पहली उपलब्धि मानी जा रही है।


एकेवीएन ने दो साल पहले क्रिस्टल आईटी पार्क की तल मंजिल पर 35 सीटों वाला इनक्युबेशन सेंटर शुरू किया था। इसे सृजन नाम देते हुए महज कुछ हजार के किराए पर ऐसे युवाओं को नाममात्र के किराए पर ऑफिस की जगह से लेकर आईटी सुविधाएं, बैंडविट्थ से लेकर सपोर्ट स्टॉफ और मार्गदर्शन मुहैया कराया गया था। इनक्युबेशन सेंटर के जरिए स्टार्टअप खड़ा करने वाले युवाओं को आईटी पार्क में ऑफिस का एड्रेस तो मिला ही।


इनक्युबेशन के जरिए उन्हें वहां मौजूद कंपनियों के एक्सपर्ट के जरिए बिजनेस टिप्स, मार्गदर्शन और अधिकारियों की मदद से शासन की योजनाओं का लाभ भी मुहैया करवाया गया। दो साल बाद सेंटर के जरिए 20 कंपनियां अस्तित्व में आ चुकी है। हाल ही में तीन कंपनियों के अंतरराष्ट्रीय करार या विस्तार सेंटर की बड़ी उपलब्धि माना जा रहा है।


लंदन में बनाया ऑफिस


निर्मया मेनेग्लेट हेल्थकेयर शुरू करने वाले साबिर खान के मुताबिक स्टार्टअप के जरिए आम लोगों को घर बैठे स्वास्थ्य सेवाओं की मदद पहुंचाने का काम शुरू किया था। इसी क्षेत्र में दुनियाभर में काम कर रही कंपनी ने प्रेक्टो ने कंपनी से हाथ मिला लिया है। ब्लू बिट टेक्नोलॉजी के नाम से शुरू हुआ स्टॉर्ट अब आईटी कंपनी के रूप में रजिस्टर्ड हो चुका है। कंपनी के संस्थापक अजित कामेसरा के अनुसार अंतराष्ट्रीय प्रोजेक्ट हासिल करने के बाद हमने लंदन में अपना ऑफिस शुरू कर दिया है।


सौ को रोजगार


एकेवीएन के एमडी कुमार पुरुषोत्तम के मुताबिक इनक्युबेशन सेंटर में युवाओं को उद्यमी बनाने के लिए अधोसंरचना मुहैया करवाने के साथ प्रोड्क्ट डेवलपमेंट, मार्केटिंग स्ट्रेटिजी के लिए विशेषज्ञों की मदद मुहैया कराई गई। दो वर्ष में ही यहां शुरू हुए स्टार्टअप में से 12 कंपनी के रूप में रजिस्टर्ड होने में सफल रहे हैं। इनकी बदौलत सौ लोगों को रोजगार मिल रहा है। ये स्टार्टअप कंपनियां आईटी सॉल्युशन, हेल्थकेयर के साथ, गैरेज, पार्किंग मैनेजमेंट और चुनाव मैनेजमेंट जैसे नए-नए आयडियाज पर काम कर रही है।


एनआरआई पहुंचे देखने


बीते दिनों हुए फ्रेंड्स ऑफ एमपी कॉनक्लेव के बाद अब एनआरआई आईटी पार्क, पीथमपुर व अन्य औद्योगिक क्षेत्रों में निवेश संभावनाएं तलाशने पहुंच रहे हैं। अभी तक 7 निवेशक क्षेत्रों का दौरा कर चुके हैं। इनमें कैनेडा से लेकर कोलकाता तक के उद्योगपति शामिल है। पहले से प्लांट लगा चुके हांगकांग के उद्योगपति प्रेम आइलदासानी ने और जमीन मांगी है।