राजस्थान के पाली जिले में शुक्रवार को आरएसएस के पथ संचलन में कथित हमले के बाद माहौल गरमा गया. आरएसएस कार्यकर्ताओं ने कथित तौर पर आरोप लगाया कि एक समुदाय के कुछ युवकों ने उनके ऊपर पत्थर से हमला किया. जिसके बाद दोनों समुदाय आमने-सामने हो गए और देखते ही देखते विवाद ने बड़ा रूप ले लिया. मौके पर दो समुदाय के लोग एकत्रित हो गए और नारेबाजी करने लगे. विवाद की सूचना मिलने पर पुलिस तुरंत मौके पर पहुंची. पुलिस ने दोनों समुदाय के लोगों को समझाने की कोशिश की, लेकिन एक समुदाय द्वारा पथराव किए जाने से माहौल गरमा गया.


आरएसएस कार्यकर्ताओं ने पुलिस से पथ संचलन पर पथराव करने वाले आरोपियों को गिरफ्तारी करने की मांग को लेकर प्रदर्शन किया, वहीं दूसरे समुदाय के लोगों ने द्वारा रामद्वारा और पटेल छात्रावास के बाहर पार्क की गाड़ियों में तोड़फोड़ करने से मामला और बिगड़ गया.


मामले को और बिगड़ता देख पुलिस ने लाठियां भांजना शुरू कर दिया. उसके बाद कुछ युवकों ने पुलिस पर भी पथराव कर दिया. जिससे दो पुलिसकर्मी चोटिल हो गए. मामले को बढ़ता देख एसपी दीपक भार्गव भी मौके पर पहुचे और दोनों समुदायों के लोगों को समझाने की कोशिश कर शांति बनाए रखने की अपील करने लगे.


घटना के बाद मौके पर भारी संख्या में पुलिसबल तैनात है, हालांकि एसपी ने पत्थर फेंकने वाले आरोपी युवकों की शीघ्र गिरफ्तारी का आश्वाशन दिया. जिसके बाद मामला शांत हुआ, लेकिन सुबह तक आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं होने पर शहर बंद की भी चेतावनी दी है.