प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मंगलवार को राजस्थान की पचपदरा रिफाइनरी के कार्य का शुभारम्भ किया. रिमोट का बटन दबाकर पीएम ने शुभारंभ करने के बाद जनसभा को संबोधित कर रहे हैं. खम्मा घणी

और नमस्कार के साथ पीएम ने अपना संबोधन शुरू करते हुए रिफाइनरी के शिलान्यास और कार्य आरंभ पर बोलते हुए इसके उद्घाटन की तारीख का भी ऐलान कर दिया. मोदी ने कहा कि मुझे विश्वास दिलाया गया है कि 2022 को जब देश आजादी का 75वां साल मना रहा होगा, रिफाइनरी उद्घाटन हो जाएगा और देश को नई ऊर्जा मिलना शुरू हो जाएगी.


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने सम्बोधन में कहा कि सक्रांति के बाद उन्नती निहित होती है. उन्होंने कहा कि आने वाले दिनों में कोई भी सरकार पत्थर जड़ेगी तो जनता पूछेगी पत्थर जड़ दिया काम कब शुरू होगा? काम शुरू होने पर लोगों को विश्वास होता है. मैंने अधिकारियों से उद्घाटन की तारीख़ पूछी है, मुझे विश्वास दिया गया है कि साल 2022 में काम पूरा होगा. यह समय संकल्प से सिद्धी का समय है. बाड़मेर की धरती अनगिनत संत, वीध्वजनों की धरती है. मोदी ने भूतपूर्व उपराष्ट्रपति भैरोंसिंह शेखावत को याद करते हुए कहा कि उन्होंने राजस्थान में रिफाइनरी का सपना देखा था. मोदी ने जसवंत सिंह का भी किया जिक्र किया और उनके उत्तम स्वास्थ्य की कामना करते हुए उनके अनुभवों का लाभ मिलते रहने की की बात कही.


मोदी के संबोधन से पहले पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान ने जनसभा को संबोधित किया. उन्होंने रिफाइनरी को लेकर कांग्रेस पर निशाना साधा और चुनाव से पहले सोनिया गांधी को बुलाकर राजस्थान की जनता के साथ राजनीतिक धोखा करने की बात कही.पीएम मोदी जनसभा में सीएम वसुंधरा राजे, पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान और कई अन्य केंद्रीय मंत्रियों के साथ मंच साझा कर रहे हैं.



केंद्रीय मंत्री प्रधान के बाद मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने कांग्रेस पर जमकर हमला बोला. उन्होंने कहा कि रिफाइनरी का सपना हमने 2005 से 2008 के दौरान पहली बार देखा था. और तभी 'मंगला' नाम का कुंआ खुद गया था. इसके बाद कांग्रेस ने सिर्फ वोट पाने के लिए सोनिया गांधी को बुलाकर शिलान्यास करवा दिया. उन्होंने कहा कि कांग्रेस राजस्थान को कर्ज वाली रिफाइनरी देने जा रही थी. अब रिफाइनरी के कार्य के शुभारम्भ के बाद प्रदेश को 34 हजार करोड़ की अतिरिक्त आय होगी. यह देश की सबसे आधुनिक रिफाइनरी होगी जिसमें प्रदेश का 43 हजार 129 करोड़ का अब तक सबसे बड़ा निवेश होगा. इस रिफाइनरी के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को धन्यवाद. उन्होंने कहा कि हम पत्थर लगाने में विश्वास नहीं करते, जो कहते हैं वो करके दिखाते हैं और 2022 में रिफाइनरी का उद्घाटन भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ही करेंगे.



इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी राजस्थान के उत्तरलाई एयरबेस पर पहुंचे. यहां से हेलकॉप्टर से पीएम बाड़मेर जिले के पचपदरा पहुंचे. पचपदरा में पीएम ने सबसे पहले रिफाइनरी प्रोजेक्ट की जानकारी ली और फिर आयोजन स्थल पहुंचे. यहां सीएम वसुंधरा राजे ने पीएम को बाड़मेर के बुनकरों का बना शॉल भेंट कर स्वागत किया. कई केंद्रीय मंत्री इस कार्यक्रम में शिरकत करने पहले ही आयोजन स्थल मौजूद हैं. बीजेपी की प्रदेश सरकार इसे राजस्थान की प्रगति के इतिहास में एक एतिहासिक कदम बता रही है.


राजस्थान रिफाइनरी पब्लिक सेक्टर में देश का पहला इन्टिग्रेटिड रिफाइनरी व पेट्रीकेमिकल कॉम्पलेक्स है जिसमे प्लास्टिक, फाइबर, पेन्ट, रबर जैसे अनेक सहायक उद्योगों का भी विकास होगा और प्रदेश में कई हजार नये रोजगार के अवसर बनेंगे जिससे राज्य की आर्थिक स्थिति को प्रगति के पंख लगेंगे.


राजस्थान रिफाइनरी से सम्बंधित सभी स्वीकृतियां पूरी हो चुकी हैं और सभी तैयारियों के साथ काम शुरू किया गया है. राजस्थान रिफाइनरी वर्ष 2022-23 तक तैयार हो जाएगी.