मेरठ के बाद कानपुर में अब पुराने नोटों का जखीरा पकड़ा गया है. एनआईए और यूपी पुलिस के साझा ऑपरेशन में कानपुर के एक होटल समेत तीन स्थानों से पुराने नोटों के आठ सौदागर पकड़े गए हैं. उनके पास से अब तक 95 करोड़ के पुराने नोट बरामद हो चुके हैं. नोटों की गिनती अभी भी जारी है.


फिलहाल पकड़े गए लोगों से आयकर विभाग के अफसर पूछताछ कर रहे हैं.  सूत्रों के अनुसार अब तक 95 करोड़ रुपया बरामद हो चुका है. बरामद नोटों की गिनती का काम अभी भी जारी है. मामले में कारोबारी आनन्द खत्री से पूछतांछ में अहम जानकारी मिली है. दूसरे कारोबारियों का भी एक्सचेंज के लिए कलेक्ट किया गया था पुराना रुपया.


गौरतलब है कि पिछले दिनों मेरठ के एक बिल्डर संजीव मित्तल के पास से पुलिस ने 25 करोड़ के पुराने नोट बरामद किए थे. इसके बाद एनआईए को जानकारी मिली थी कि यूपी में कानपुर समेत कई जिलों में मनीचेंजर गैंग सक्रिय है.


सटीक सूचना पर एनआईए के अफसरों ने आईजी अलोक सिंह और एसएसपी अखिलेश कुमार से संपर्क किया. इसके बाद कानपूर पुलिस के अधिकारीयों ने एनआईए की टीम के साथ मिलकर छापेमारी को अंजाम दिया.



मंगलवार सुबह पुलिस और एनआईए की संयुक्त टीम ने सीसामऊ इलाके के एक होटल में छापा मारकर तीन लोगों को दबोचा. इनकी निशानदेही पर पांच और लोगों को गिरफ्तार किया गया. एक पुलिस अफसर ने बताया कि इनके पास से 80 करोड़ रुपए पुराने नोट बरामद हुए हैं.