सुप्रीम कोर्ट के चार जजों की बेंच ने गुरुवार को संजय लीला भंसाली को बड़ी राहत देते हुए उनकी फिल्म 'पद्मावत' पर अलग-अलग राज्यों में लगे बैन पर रोक लगा दी है. सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद जगह-जगह इसका विरोध शुरू हो गया है. करणी सेना ने कहा है कि फिल्म थियेटरों के मालिक उनकी अनुमति के बिना फिल्म रिलीज नहीं करेंगे. वहीं जयपुर में राजपूत महिलाओं ने फिल्म रिलीज होने पर जौहर की धमकी दी है.

उज्जैन में करनी सेना के संस्थापक लोकेंद्र सिंह कालवी ने कहा है कि पद्मावत फ़िल्म की रिलीज के दिन 25 तारीख को जनता का कर्फ़्यू लगेगा. किसी का फ़िल्म देखने का मन है तो मेरा मानना है कि फ़िल्म नहीं देखे. कल मुम्बई में चर्चा की जाएगी. फ़िल्म के प्रदर्शन पर बड़ी घोषणा की जा सकती है.

मुजफ्फरपुर में सिनेमाघर में तोड़फोड़
बिहार के मुजफ्फरपुर में करणी सेना के कार्यकर्ताओं ने फिल्म के विरोध में एक सिनेमाहॉल के बाहर जमकर प्रदर्शन किया. कार्यकर्ताओं ने सिनेमाहॉल में लगे पद्मावत के पोस्टर फाड़ दिए.

राजस्थान में जौहर की धमकी
राजस्थान की राजधानी जयपुर में राजपूत सभा सदस्य हेमेंद्र कुमारी ने प्रेस कांफ्रेंस में कहा है कि जयपुर में 'पद्मावत' को लेकर आगे की रणनीति बनाई जाएगी. चित्तौड़गढ़ में सर्व समाज की बैठक में क्षेत्रीय समाज की महिलाओं ने यह घोषणा की है कि यदि देश में कहीं भी पद्मावत रिलीज हुई तो वे जौहर करेंगी. राजपूत महिलाओं ने चित्तौड़गढ़ किले के उसी स्थान पर जौहर की धमकी दी जहां रानी पद्मिनी ने रानियों, दासियों और अन्य महिलाओं के साथ जौहर किया था.