श्रीनगर जम्मू के सुंजवां आर्मी कैंप में भारतीय सेना ने जैश-ए-मोहम्मद के एक और आतंकी को मार गिराया है, जैश के आका मौलाना मसूद अजहर और सैयद सलाउद्दीन की जोड़ी ने सुंजुवान कैंप पर हमले की साजिश रची थी. 'आजतक' को जैश सरगना और उसके गुर्गे रउफ असगर की बातचीत का ऑडियो हाथ लगा है. दहशतगर्दों के खिलाफ सुबह 4.10 बजे ऑपरेशन जारी है. आतंकियों को फौजी क्वॉर्टर के एक खास घेर में बांध लिया गया है. सूत्रों के मुताबिक फौज अंतिम प्रहार की तैयारी में है.


आतंकी के पास से जैश का झंडा बरामद


दरअसल जम्मू के शुंजवां आर्मी कैंप में जैश-ए-मोहम्मद का फिदायिन दस्ता सुबह तड़के घुस आया. आतंकवादी सेना के क्वॉर्टर को निशाना बना रहे थे, यानी उनकी नजर फौजियों के परिवार वालों को नुकसान पहुंचाने की थी. लेकिन हमारे जवानों ने उनकी साजिश को वक्त रहते नाकाम कर दिया. 15 घंटे के ऑपरेशन के बाद फौज ने एक आतंकी को मार गिराया है जबकि हमारे दो जवान शहीद हो गए. अभी भी ऑपरेशन जारी है, कुछ और आतंकियों के छिपे होने की संभावना है. वहीं मारे गए दूसरे आतंकी के पास से जैश का झंडा मिला है. साथ से आतंकवादी के पास से भारी मात्रा में हथियार बरामद हुआ है.


बड़ी तबाही की फिराक में थे आतंकी


इससे पहले शनिवार की आतंकी दबे पांव सेना के कैंप में घुस आए और सीधे जवानों के परिवार वाले क्वॉर्टर को निशाना बनाया. हमले के तुरंत बाद सेना ने मोर्चा संभाला. फौज की क्विक रिएक्शन टीम हरकत में आ गई. आनन-फानन में जवाबी फायरिंग शुरू हुई. सेना का पहला मकसद आतंकियों को एक जगह घेर लेना था. जिससे वो कोई बड़ा नुकसान ना कर सके. इमारत से लोगों को बाहर न आने की नसीहत दी गई है.


सेना ने इलाके को घेरा


सेना के सूत्रों के मुताबिक आतंकी जिस फौजी क्वॉर्टर में घुसे थे, वहां सैनिकों का परिवार फंसा था. इससे पहले कि आतंकी उन्हें नुकसान पहुंचाते सेना की टुकड़ी ने सीधा हमला किया. उनका मकसद परिवार वालों को सुरक्षित निकालना था. दोनों तरफ से चली फायरिंग में सेना के एक जेसीओ और जवान शहीद हो गए. जबकि 4 घायलों में एक कर्नल रैंक के आर्मी ऑफिसर, हवलदार अब्दुल हामिद, लांस नायक बहादुर सिंह और सूबेदार चौधरी की बेटी शामिल हैं.


हमले के फौरन बाद उधमपुर से IAF के पैरा कमांडोज को जम्मू एयरलिफ्ट किया गया है. पैरा कमांडोज आतंकवादियों की तलाश के लिए हर कमरे की छानबीन कर रहे हैं. सेना के मुताबिक कैंप में दो आतंकियों के छिपे होने की संभावना है. हालांकि जम्मू-कश्मीर सरकार ने सेना के कैंप में दो से ज्यादा आतंकियों के छिपे होने की बात कही है.