नई दिल्ली अभिनेता से राजनेता बने कमल हासन ने रविवार को अमेरिका की हार्वर्ड यूनिवर्सिटी में छात्रों को संबोधित किया. यहां उन्होंने तमिलनाडु की राजनीति पर अपना रुख साफ किया. इसके साथ ही रजनीकांत के साथ गठबंधन के सवाल पर कमल हासन ने कहा, 'मैं रजनीकांत का मित्र हूं. हमारे इरादे शायद एक जैसे हों, लेकिन मुझे नहीं लगता कि हम दोनों साथ काम कर पाएंगे.' बता दें, पिछले कुछ दिनों से दोनों अभिनेताओं के साथ आने और संभावित गठबंधन को लेकर चर्चाएं जोरों पर थीं.


'मेरी राजनीति का रंग भगवा नहीं'


रजनीकांत के साथ गठबंधन पर पूछे गए सवाल पर कमल हासन ने कहा, 'मैं रजनीकांत का मित्र हूं. हमारे इरादे शायद एक जैसे हों, लेकिन मुझे नहीं लगता कि हम दोनों साथ काम कर पाएंगे. मुझे उम्मीद है कि उनकी राजनीति का रंग भगवा नहीं है. मेरी राजनीति का रंग भगवा नहीं है. धर्म को लेकर भी हमारे विचार अलग हैं.' कमल हासन ने आगे कहा, 'मेरी राजनीति का रंग काला है. मैं सभी रंगों को इकट्ठा करना चाहता हूं.'


बीफ पर कमल हासन ने कहा, 'सरकार नागरिकों को खाने के लिए पर्याप्त नहीं दे पा रही है. और वो हमें ये बताना चाहती है कि हम क्या खाएं और क्या नहीं खाएं. वहीं, लव जिहाद के मुद्दे पर हासन ने कहा, 'प्यार दुनिया भर में विजयी होगा।'


'तमिलनाडु के हर जिले से एक गांव को गोद लूंगा'


कमल हासन ने कहा, 'मैं तमिलनाडु के हर जिले से एक गांव को गोद लूंगा. मैं इन गांव को सेंटर फॉर एक्सिलेंस के तौर पर बनाना चाहता हूं. कमल हासन ने आगे कहा, जब मतदाता वोट देने के लिए पैसे लेता है उसी वक्त वो नेताओं को ये अध‍िकार दे देता है कि चुने जाने के बाद वो पैसे बनाएं.'


रजनीकांत टाल गए थे गठबंधन का सवाल


इससे पहले गठबंधन के सवाल पर रजनीकांत ने कहा था कि, 'इस सवाल का जवाब सिर्फ समय देगा।' दरअसल, रजनीकांत पहले ही घोषणा कर चुके हैं कि उनकी पार्टी तमिलनाडु विधानसभा की सभी 234 सीटों पर चुनाव लड़ेगी. वहीं, हासन भी अपनी राजनीतिक पार्टी का बनाने की बात कह चुके हैं.