ब्लोटिंग यानि पेट फूलना, जिससे पेट का आकार बढऩे लगता है।  इसे पेट की सूजन भी कहते हैं। सामान्य तौर पर ऐसा खाना खाने के बाद महसूस होता है। यह समस्या तब आती है जब छोटी आंत के अंदर गैस भर जाती है। इसका सीधा संकेत पाचन क्रिया में गड़बड़ी भी है। वैसे तो इसे आम समस्या समझा जाता है लेकिन नजरअंदाज करने पर यह बीमारी गंभीर भी बन सकती है। इसके कई कारण हो सकते हैं जैसे लाइफस्टाइल में गड़बड़ी,हार्मोनल असंतुलन ,बासी भोजन का सेवन,पेट में पानी या फ्लूइड का भर जाना, कब्ज, ज्यादा देर तक भूखे या फिर कई घंटे एक ही जगह पर बैठे रहना,पीरीयड्स आने पर होने वाले शारीरिक बदलाव भी पेट के फूलने का कारण बनते हैं। इसके अलावा दवाइयों का अधिक सेवन या और भी बहुत से कारण हैं जो ब्लोटिंग की वजह हैं। इससे सेहत पर भी बहुत बुरा असर पड़ता है, इससे छुटकारा पाने के लिए सही लक्षणों को पहचानना बहुत जरूरी है। 


 


लक्षण

- घबराहट

- भूख न लगना

- बेचैनी

- पेट में दर्द

- कब्ज या दस्त 

- वजन घटना

- थकान

- तेज सिरदर्द या कमजोरी

 



इस तरह पाएं ब्लोटिंग से छुटकारा 

इस परेशानी में पेट फूला हुआ और सख्त महसूस होता है। कुछ घरेलू नुस्खों का इस्तेमाल करने से इस समस्या से राहत पाई जा सकती है। 

 


1. अजवायन 

खाना खाने के बाद भारीपन के साथ-साथ बेचैनी या घबराहट होने लगती है तो थोड़ी सी अजवायन के साथ सेंधा नमक चबाचबा कर खाएं। इसके बाद गुनगुना पानी पी लें। इससे पेट में बनने वाली गैस से राहत मिलेगी और पाचन क्रिया भी दुरूस्त हो जाएगी। 

 


2. तुलसी 

तुलसी सेहत के लिए बहुत लाभकारी है और यह आसानी से मिल भी जाती है। पेट से जुड़ी किसी भी समस्या से राहत पाने के लिए इसका सेवन करना बैस्ट है। कुछ दिन सुबह खाली पेट 3-4 तुलसी की ताजी पत्तियों का सेवन करें। इससे पेट फूलने की समस्या दूर हो जाएगी। 

 


3. गुनगुना पानी 

गुनगुने पानी का सेवन पेट की सूजन,अपच के साथ-साथ और भी बहुत सी समस्याओं से राहत दिलाने में कारगर है। खाना खाने के बाद ठंड़ा पानी पीने की जगह गुनगुने पानी का इस्तेमाल करें। सुबह उठकर एक गिलास गुनगुना पानी पीने से कब्ज नहीं होती और पेट भी तंदुरूस्त रहता है। 

 


4. पुदीना

पुदीने का सेवन करने से पेट में जमा होने वाली गैस आसानी से निकल जाती है, जिससे ब्लोटिंग की परेशानी नहीं होती। दिन में एक बार पुदीने की चाय पीने से भी फायदा मिलता है। इसके अलावा खाने में पुदीने की चटनी भी शामिल कर सकते हैं। इससे बदहजमी नहीं होती। आप सुखे पुदीने का सेवन मिश्री के साथ भी खा सकते हैं। 



5. कद्दू

पेट से जुड़ी हर समस्या के लिए कद्दू बैस्ट है। इसमें विटामिन ई,पोटाशियम और फाइबर भरपूर मात्रा में होता है, जिससे खाना आसानी से पचने लगता है। दिन में एक बार कद्दू का सेवन जरूर करें। 

 


6. केला

कैल्शियम, पोटाशियम और फाइबर के लिए केला बहुत बढिय़ा है। यह कब्ज,गैस और पेट के फूलने से जुड़ी समस्या के लिए बहुत लाभकारी है। रोजाना एक केले का सेवन काले नमक के साथ करने से पेट से जुड़ी परेशानियां दूर रहती हैं। 

 


7. सौंफ

सौंफ में एंटी माइक्रोबियल गुण होते हैं, खाना खाने का बाद इसे चबाचबा कर खाएं। इससे पेट की गैस आसानी से निकल जाती है। इसके अलावा  एक कप गर्म पानी में 1चम्मच सौंफ के बीज भी डाल कर 5 से 10 मिनट ढक्कर रख दें। इसके बाद इस मिश्रण को छानकर इसका सेवन करें। इसका सेवन दिन में 2 से 3 बार करें।