बड़े फैशन डिजाइनर सब्यसाची मुखर्जी ने भारत की महिलाओं को साड़ी न पहनकर वेस्टर्न आउटफिट को तरजीह देने पर आड़े हाथों लिया है. उनका कहना है, 'मुझे लगता है कि अगर आप मुझसे कहती हैं कि मुझे साड़ी पहननी नहीं आती तो मैं कहूंगा कि आपको शर्म करनी चाहिए. यह आपकी संस्कृति का हिस्सा है, आपको इसके लिए आगे आना चाहिए.'


सब्यसाची ने यह बात हार्वर्ड इंडिया कॉन्फ्रेंस में भारतीय स्टूडेंट्स से कही. उनके इस बयान पर स्टूडेंट्स ने ताली बजाकर सहमति भी जताई. सब्यसाची से किसी ने साड़ी पहनने के दौरान होने वाली परेशानियों के बारे में पूछा था. उन्होंने जवाब दिया कि यह दुनिया की बेहद खूबसूरत पोशाक है, सभी इसकी तारीफ करते हैं और यह भारतीय महिलाओं की पहचान है. पूरे विश्व में लोग इसके दावाने हैं.


सब्यसाची ने हाल ही में खूबसूरत साड़ियों का एक कलेक्शन जारी किया था, जिसे बॉलीवुड एक्ट्रेस दीपिका पादुकोण पहने नजर आई थीं. वह सब्यसाची के इस नए कलेक्शन के लिए करवाए फोटो शूट में काफी क्लासिक नजर आ रही थीं.


सब्यसाची ने बातचीत में दीपिका पादुकोण का भी जिक्र किया. उन्होंने कहा, 'वह कहीं भी जाती है तो साड़ी ही पहनती हैं.' सब्यसाची ने कहा कि साड़ी पहनना बेहद आसान है और इसे पहनकर युद्ध लड़े गए हैं. दादी मांएं साड़ी पहनकर सो जाती थीं और सुबह उठती थीं तो इस पर जरा भी सिकुड़न नहीं होती थी.



सब्सयाची से जब धोती के बारे में सवाल किया गया तो उन्होंने कहा कि भारतीय महिलाओं ने साड़ी को जिंदा रखा है लेकिन धोती का चलन दम तोड़ चुका है.