नई दिल्ली कांग्रेस से निलंबित मणिशंकर अय्यर के पाकिस्तान में दिए गए बयान पर उनकी ही पार्टी के अंदर से विरोध के स्वर आए हैं. कांग्रेस पार्टी सचिव और पूर्व सांसद हनुमंत राव इस मुद्दे पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को खत लिखेंगे. हनुमंत राव राहुल से मणिशंकर अय्यर को पार्टी से निकालने की मांग करेंगे.


हनुमंत राव का मानना है कि गुजरात चुनाव के दौरान भी अय्यर के बयान से पार्टी को चुनाव में नुकसान हुआ था. उसके बाद उन्हें निलंबित किया गया, लेकिन फिर भी वह नहीं सुधरे हैं. अब पाकिस्तान में उन्होंने उल्टा बयान दिया है.


हनुमंत राव का कहना है कि अय्यर के इस प्रकार के बयान से कांग्रेस को कर्नाटक चुनावों में भी नुकसान हो सकता है. इसलिए मणिशंकर अय्यर को तुरंत प्रभाव से पार्टी से निष्कासित कर देना चाहिए.



आपको बता दें कि सोमवार को अय्यर ने भारत-पाकिस्तान के रिश्तों में बातचीत की पहल को लेकर PAK की तारीफ की थी. कराची में एक कार्यक्रम में हिस्सा लेने पहुंचे अय्यर ने कहा था कि मैं पाकिस्तान से प्यार करता हूं क्योंकि मैं भारत से भी प्यार करता हूं. मणिशंकर अय्यर ने भारत और पाकिस्तान के बीच मुद्दों के समाधान के लिए निर्बाध बातचीत की पैरवी की है.


इस कार्यक्रम के दौरान अय्यर ने कहा, ‘‘भारत-पाकिस्तान मुद्दों को हल करने के लिए एक ही रास्ता है और यह रास्ता निर्बाध बातचीत का है.’’ अय्यर ने बातचीत के जरिए मुद्दों को हल करने की कोशिश के लिए पाकिस्तान की सराहना की और कहा कि नई दिल्ली के पास यह नीति नहीं है.


उन्होंने कहा कि अब वक्त की जरूरत है कि भारत और पाकिस्तान दोनों साथ में आएं और बातचीत शुरू करें. उन्होंने कहा कि पाकिस्तान और भारत में विवाद को दूर करने का एक ही उपाय है, वह सिर्फ बातचीत है.


गुजरात चुनाव में पीएम मोदी पर की थी आपत्तिजनक टिप्पणी


आपको बता दें कि गुजरात चुनाव के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए आपत्तिजनक शब्द का प्रयोग करने के कारण कांग्रेस पार्टी से उन्हें निलंबित कर दिया गया था. अय्यर के पीएम मोदी पर बयान के बाद कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के कहने पर उन्होंने बयान पर माफी मांगी थी.