कानपुर के चकेरी इलाके में एक दोस्त की शादी समारोह में शामिल होने अाए सेना के जवान की हर्ष फायरिंग में मौत हो गई. इस घटना के बाद पूरे समारोह में हड़कंप मच गया, खुशियां मातम में बदल गईं. लोगों की सूचना पर पहुंची पुलिस ने मृतक के शव को पोस्टमार्टम भेजने के साथ ही आरोपी युवक को हथियार समेत दबोच लिया है. वहीं एसएसपी अखिलेश कुमार ने हर्ष फायरिंग की घटना से इनकार किया है. एसएसपी ने बताया कि गलती से मृतक जवान के लाइसेंसी राइफल से गोली चली है. पुलिस घटना की जांच कर रही है.


पुलिस के मुताबिक रायबरेली के ग्राम पूरे मंगली के रहने वाले 28 वर्षीय कुलदीप सेना में कार्यरत था. उनकी तैनाती वर्ष 2011 में सेना में हुई थी. वर्तमान समय में वह अंबाला में तैनात था. कुलदीप चकेरी में अपने दोस्त शिवप्रकाश की शादी समारोह में शामिल होने के लिए सोमवार को यहां आया था. देर रात समारोह में संजय मौर्या नाम के युवक ने बंदूक से एक-दो फायर कर दिया.


इस दौरान पांडाल में मौजूद लोगों ने उसे फायरिंग करने से रोका, लेकिन वह नहीं माना. अावेश में अाकर उसने फिर बंदूक लोड की अौर फायरिंग कर दी. इसी बीच पास में ही खड़े कुलदीप को एक गोली लग गई. घटना के बाद समारोह स्थल पर अफरा-तफरी मच गई. घटना की जानकारी होते ही मौके पर पुलिस पहुंच गई. अानन-फानन में पुलिस के साथ लोग कुलदीप को लेकर कांशीराम अस्पताल लेकर भागे, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया. घटना के बाद मृतक के परिवार में कोहराम मच गया.