मध्य प्रदेश के ग्वालियर में वैलेंटाइन डे की रात एक 'लव स्टोरी' का खौफनाक अंत हो गया. यहां साढ़ू की बेटी से प्यार करने वाले एक शख्स ने पत्नी के विरोध के बाद फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली. वहीं, साढ़ूू की बेटी ने भी कथित तौर पर बदनामी के डर से दूसरी मंजिल से कूदकर जान देने की कोशिश की. उसे गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती कराया गया है.


ग्वालियर में बुधवार को लोग प्यार का दिवस वैलेंटाइन डे मना रहे थे. वहीं शहर के बड़ागांव इलाके में रहने वाले राम बिहारी ने वैलेंटाइन डे की रात अपनी जिंदगी खत्म कर ली.


दरअसल, छह महीने पहले रामबिहारी की पत्नी गर्भवती थी उस दौरान घर का काम करने के लिहाज से रामबिहारी मोहना में रहने वाले अपने साढ़ू की बेटी को ग्वालियर ले आया था. इस दौरान दोनों के बीच नजदीकियां बढ़ने लगी. ये बात जब रामबिहारी की पत्नी को पता चली तो घर में विवाद होने लगे. पत्नी ने अपनी बहन की बेटी को फटकार भी लगाई, लेकिन मामला नही सुलझा.


वैलेंटाइन डे की रात रामबिहारी घर में अपने साढ़ू की बेटी के साथ दूसरी मंजिल के कमरे पर गया तो पत्नी ने एतराज जताया और फिर विवाद हुआ. विवाद के बाद नाराज रामबिहारी ने रात में अपने कमरे में फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली.



रामबिहारी ने खुदकुशी कर ली, तो साढ़ू की बेटी ने छत से कूदकर जान देने की कोशिश की. खबर मिलते ही मुरार पुलिस मौके पर पहुंची और घायल हालत में युवती को जयारोग्य अस्पताल भिजवाया गया.


इस मामले में गुरुवार सुबह एक नाटकीय मोड़ आ गया. युवती जयारोग्य रोग्य अस्पताल से मुरार थाने पहुंच गई. युवती ने प्रेमप्रसंग की बात को नकारते हुए, आत्महत्या करने वाले मौसा रामबिहारी पर ही शौषण करने का इल्ज़़ाम लगा दिया.


युवती का कहना है कि मौसा रामबिहारी उसका शारीरिक शौषण करना चाहते थे, लेकिन वो तैयार नही थी, इसी बात को लेकर वो वैलेंटाइन-डे की रात फांसी पर झूल गया. युवती का कहना है कि जब उसने छत वाले कमरे में मौसा रामबिहारी के फांसी पर लटके देखा तो मौसी को आवाज दी. इसके थोड़ी देर बाद वो छत से नीचे आ गिरी, उसे पता नही कि किसी ने उसे धक्का दिया या फिर वो खुद गिरी है.


पुलिस ने प्रारंभिक पड़ताल के बाद रामबिहारी और उसके साढ़ू की बेटी के बीच अवैध संबंधों की बात कही है. पुलिस का मानना है कि घर में विवाद होने के बाद राम बिहारी ने शर्मसार होकर खुदकुशी की है वहीं उसके साढ़ू की बेटी ने भी बदनामी के डर से छत से छलांग लगाई है.