लंदन। दिल और पेट से जुड़ी दो बच्चियों एना और होप रिचर्ड्स को नई जिंदगी मिल गई है। सात घंटे के ऑपरेशन के बाद उन्हें सफलतापूर्वक अलग कर दिया गया। 29 दिसंबर 2016 को जिल रिचर्ड्स ने सीजेरियन सर्जरी के बाद बच्चियों को जन्म दिया था।


वह और उनके पति माइकल यह खबर सुनकर खुश हो गए थे, लेकिन जब उन्हें पता चला कि बच्चियां छाती और पेट से जुड़ी हुई हैं, तो उनकी परेशानी बढ़ गई थी। हालांकि, जुड़वा बच्चों की इस हालत के बारे में नियमित अल्ट्रासाउंड के दौरान पता चल गया था।


बच्चियों को जन्म के बाद दो साल तक अस्पताल में ही बिताने पड़े। इस दौरान उनकी छाती की दीवार, दिल, यकृत और डायाफ्राम जुड़ा हुआ था। मगर, ह्यूस्टन के टेक्सास चिल्ड्रन हॉस्पिटल में एनआईसीयू में विशेषज्ञों की एक टीम ने सात घंटे के ऑपरेशन के बाद उन्हें सफलतापूर्वक अलग कर दिया।


टेक्सास चिल्ड्रन हॉस्पिटल में बाल चिकित्सा सर्जन डॉ. ओलुयिंका ओलुटॉय ने बताया की इस तरह के जुड़वा बच्चों को जिंदा रखना और स्वस्थ रखने काफी मुश्किल काम होता है। ऐसे बच्चों के जन्म के पहले से ही काफी प्लानिंग की जरूरत होती है।


अस्पताल द्वारा जारी एक बयान में डॉ. ओलुटॉय कहा कि इस तरह की सर्जरी से पहले इमेजिंग, मॉडलिंग और काफी रिसर्च की जरूरत होती है, जो महीनों तक चलती है। इसके बाद जब यह पुष्टि हो जाती है कि बच्चों को अलग किया जा सकता है, तो ऑपरेशन किया जाता है।


मगर, इसके पहले चरण में डॉक्टरों को छाती में टिशू एक्सपेंडर्स को डालने की जरूरत होती है। ऐसा इसलिए किया जाता है, ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि ऑपरेशन के बाद बच्चों के अंगों को कवर करने के लिए पर्याप्त त्वचा उपलब्ध हो सके।