गाजा सिटी।  इजरायली वायु सेना के लड़ाकू विमानों ने एक बार फिर चरमपंथी संगठन हमास के खिलाफ बड़ी कार्रवाई की है। गाजा पट्टी में हमास के 18 सैन्य ठिकानों पर बम बरसाए गए तो एक सुरंग को भी निशाना बनाया गया। इजरायली सेना के अनुसार इस सुरंग के माध्यम से हमास आतंकी गतिविधियों को अंजाम देता था।

इजरायल ने हमास के लिए हथियारों का निर्माण करने वाले प्लांट पर भी बम गिराए। हमला दो चरणों में हुआ। इजरायल की ओर से यह कार्रवाई सीमावर्ती क्षेत्र में बम विस्फोट से अपने चार सैनिकों के घायल होने के बाद की गई। इनमें दो की हालत गंभीर बनी हुई है। घायलों को इलाज के लिए अस्पताल ले जाया गया है।

इजरायल के पीएम बेंजामिन नेतन्याहू ने शनिवार शाम जारी बयान में घटना को बेहद गंभीर करार देते हुए कहा था, 'हम उचित तरीके से इसका जवाब देंगे। मैं घायलों के जल्द ठीक होने की उम्मीद करता हूं।' वहीं इस कार्रवाई में दो फलस्तीन नागरिकों की भी मौत हो गई। दोनों की उम्र तकरीबन 17 साल के करीब थी। एक चश्मदीद के अनुसार इजरायली सीमा के नजदीक दोनों की गोली लगने से मौत हुई।

हालांकि इजरायल की सेना का कहना है कि इजरायली सीमा के नजदीक बढ़ती भीड़ को रोकने के मकसद से हवा में गोली चलाई गई थी। सेना ने आगे कहा कि इससे एक दिन पहले फलस्तीन बस्तियों की तरफ से इजरायली सैनिकों पर रॉकेट से हमले किए गए थे। गौरतलब है कि इजरायल ऐसे रॉकेट हमलों के पीछे हमास का हाथ मानता हैं।