छत्तीसगढ़ में जगदलपुर (बस्तर) जिले के हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी में बने छत्तीसगढ़ मेडिकल सर्विसेज कॉरपोरेशन लिमिटेड के दफ्तर में कार्यपालन अभियंता के चेंबर में कॉन्ट्रैक्टर ने मिट्टी का तेल डालकर खुद को आग लगाने की कोशिश की. इस दौरान करीब आधे घंटे तक चले हंगामे के बाद पुलिस मौके पर पहुंची और पेटी कॉन्ट्रैक्टर को हिरासत में लेकर थाने ले गई.


जानकारी के मुताबिक जगदलपुर में वेल्डिंग और फेब्रिकेटर्स का काम करने वाला अमित सोनी बुधवार सुबह करीब 11.30 बजे हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी लाल बाग में छत्तीसगढ़ मेडिकल सर्विसेज कॉरपोरेशन लिमिटेड के ऑफिस पहुंचा. इस दौरान उसने अधिकारी से अपना बकाया पैसा करीब 11 लाख रुपए देने की मांग की. इस पर संबंधित अधिकारी द्वारा अपनी बात से मुकर जाने की स्थिति में पेटी कॉन्ट्रैक्टर ने हंगामा मचाना शुरू कर दिया.


लिहाजा, इससे दफ्तर में अफरा तफरी का माहौल हो गया. इसके बाद पेटी कॉन्ट्रैक्टर अपनी गाड़ी में रखी मिट्टी तेल की बोतल लेकर कार्यपालन अभियंता के चेंबर में पहुंच गया और अपने ऊपर मिट्टी का तेल डालकर आत्मदाह करने की कोशिश करने लगा.


पेटी कॉन्ट्रैक्टर के मुताबिक एक साल पहले कार्यपालन अभियंता मगेंद्र सोनवानी द्वारा उसे नारायणपुर में एक लोहे का पुल बनाने के लिए ठेका दिया गया था. हालांकि टेंडर में ये ठेका किसी और को दिया गया था, लेकिन काम पेटी कॉन्ट्रैक्टर अमित सोनी द्वारा किया गया. अमित सोनी की मानें तो उस दौरान नारायणपुर में पदस्थ तत्कालीन एसपी और कलेक्टर द्वारा भी समय समय पर अमित सोनी पर काम जल्दी करने का दबाव बनाया गया.



इसके बाद काम पूरा होने पर पिछले एक साल से वह रुपयों के लिए भटक रहा है. अमित सोनी ने जब एसपी नारायणपुर से इसकी शिकायत की तो उस दौरान 10 रुपए के स्टांप पेपर में इस बात का राजीनामा हुआ कि तीसरी किश्त का भुगतान जल्द ही कर दिया जाएगा, लेकिन ऐसा हुआ नहीं.

लिहाजा, इससे परेशान होकर आज अमित सोनी ने इस तरह का आत्मघाती कदम उठा लिया. मामले में अमित सोनी का कहना है कि जब तक उसे उसका पैसा नहीं मिल जाता, तब तक वह शांत नहीं बैठेगा. इसी के साथ अमित ने चेतावनी दी है कि अगर उसे रुपए नहीं मिले, तो वह फिर से आत्महत्या जैसा कदम उठाएगा. वहीं इस पूरे मामले में छत्तीसगढ़ मेडिकल सर्विसेज के कार्यपालन अभियंता ने अमित सोनी को पहचानने से ही इंकार कर दिया है.


फिलहाल, पुलिस ने मौके पर पहुंचकर अमित सोनी को हिरासत में ले लिया है. साथ ही संबंधित मामले में उससे पूछताछ की कार्रवाई जारी है.