एक पिता के लिए उसकी बेटी किसी राजकुमारी से कम नहीं होती। वह उसकी इच्छा को पूरा करने की हर संभव कोशिश करता है, ताकि उसकी बेटी हमेशा खुश रहें। अपनी राजकुमारी को खुश करने के लिए वह किसी भी हद तक जा सकता है। एेसा ही कुछ किया सूरत के रहने वाले पवन शर्मा ने। उन्होेंने अपनी बेटी की जिद को पूरा करने के लिए दिन रात एक कर दिया, ताकि वह अपनी गुड़िया के चेहरे पर मुस्कुराहट देख सकें।

एक दिन पवन शर्मा की पत्नी कपड़ों में प्रेस कर रही थीं। तभी उनकी बेटी वहां पर आई और अपनी डॉल के कपड़ो को प्रेस करने की जिद की। मगर उसकी मां ने यह कहते हुए बात को टाल दिया की यह प्रेस बड़ी है और तुम्हारी डॉल के कपड़े छोटे हैं। इनको प्रेस करने के लिए छोटी प्रेस चाहिए।

तभी पवन शर्मा ने एक एेसी प्रेस बनाने के बारे में सोचा जिससे उनकी डॉल अपने गुड़िया के कपड़ो को आसानी से प्रेस कर सके। प्रेस को बनाने के लिए उन्होंने कुछ सामान कबाड़ और बाकी सामान बाजार से लिया। आखिर में एल्युमिनियम, प्लास्टिक हैंडल, एसबेस्टस, टंगस्टन वायर, स्टील स्टैंड, मोबाइल चार्जर, पिन आदि का इस्तेमाल करके एक हफ्ते के अंदर ही नाखून के बराबर प्रेस तैयार कर दी।

इस प्रेस का आकार 17 मिमी ऊंचा, 9 मिमी चौड़ा और 2.5 मिमी मोटा है। यह प्रेस 12 वोल्ट डीसी इलेक्ट्रिक करंट से चलती है। छोटी प्रेस बनाने से पहले पवन शर्मा सबसे छोटी केतली, हुक्का और जूता भी बना चुके हैं।