राजस्थान के टोंक में बीते रविवार को हिन्दू नववर्ष के उपलक्ष्य में निकाली जा रही रैली हुए पथराव के बाद मंगलवार को सांसद सुखबीर सिंह जौनपुरिया टोंक आए और उन्होंने इस घटना के लिए एक समुदाय विशेष को जिम्मेदार ठहराते हुए कहा कि आखिर मस्जिदों में पत्थर क्यो रखे जाते हैं. टोंक ही नहीं जयपुर में भी पता चला था कि मस्जिदों से पथराव हुआ था. सांसद ने घटना को न रोक पाने के लिए पुलिस को भी जिम्मेदार ठहराया है.उन्होंने कहा कि रैली के लिए पुलिस के इंतजाम नाकाफी थे. शहर में हुई आगजनी की घटनाओं को बेहद दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए दोषियों के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई की मांग की.


इस संबंध में सांसद जौनपुरिया जिला कलेक्टर सुबे सिंह यादव,एसपी योगेश दाधीच व आईजी मालिनी अग्रवाल से भी मिले और इस घटना के जिम्मेदार लोगों की जल्द से जल्द गिरफ्तारी की मांग की. एएसपी अवनीश शर्मा ने बताया कि रविवार को हुई घटना को लेकर दोनो पक्षों की ओर से पांच मामले दर्ज कर आरोपियों की धरपकड़ शुरू कर दी गई है.


इस दौरान जौनपुरिया के साथ देवली-उनियारा विधायक राजेंद्र गुर्जर, जिला प्रमुख सत्यनारायण चौधरी, भाजपा जिलाध्यक्ष गणेश माहुर, युवा मोर्चा जिलाध्यक्ष चंद्रवीर सिंह चौहान, राज्य कर्मचारी सफाई आयोग के सदस्य दीपक संगत व अन्य कई संगठन पदाधिकारी भी मौजूद रहे.