नयी दिल्ली। सार्वजनिक क्षेत्र की दूरसंचार कंपनी भारत संचार निगम लि. (बीएसएनएल) की 2018 के अंत तक देशभर में एक लाख वाईफाईहॉट- स्पॉट लगाने की योजना है। यह वाईफाई नेटवर्क भागीदारों के साथ राजस्व भागीदारी के अलावा बीएसएनएल के खुद के पूंजी व्यय मॉडल के आधार पर लगाए जाएंगे। बीएसएनएल के चेयरमैन एवं प्रबंध निदेशक अनुपम श्रीवास्तव ने संवाददाताओं से कहा कि करीब 18,000 वाईफाई सुविधा स्थल पहले ही लगाए जा चुके हैं। 

बीएसएनएल ने आज गुजरात के वलसाड़ जिले के उदावाड़ा गांव में क्वाडजेन के साथ भागीदारी में मुफ्त वाईफाई सेवा की शुरुआत की। इस गांव को सूचना एवं प्रसारण मंत्री स्मृति ईरानी ने संसद आदर्श ग्राम योजना के तहत गोद लिया है। इस मौके पर ईरानी ने कहा कि उदावाड़ा गांव में वाईफाई सेवा शुरू होने का लाभ आसपास के क्षेत्र के लोगों को भी मिलेगा। इस गांव की आबादी 6,000 है। उन्होंने कहा, ‘‘ उदावाड़ा और आसपास के क्षेत्र के लोग असीमित इंटरनेट डेटा का इस्तेमाल कर सकेंगे। यह गांव डिजिटल हो गया है।’’ 


इस हॉटस्पॉट के दायरे में गांव का 90 प्रतिशत हिस्सा आएगा। एक ही समय में कई लोग इसका इस्तेमाल कर सकेंगे। इस सेवा की शुरुआत करते हुए दूरसंचार मंत्री मनोज सिन्हा ने कहा कि डिजिटल इंडिया कार्यक्रम से देश में उचित मूल्य पर डेटा और वॉयस सेवाएं उपलब्ध हुई हैं। उन्होंने कहा कि आज अमेरिका और चीन मिलकर जितने डेटा का इस्तेमाल करते हैं उससे अधिक का इस्तेमाल अकेले भारत में हो रहा है।