प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी यूनाइटेड किंगडम (ब्रिटेन) और स्वीडन का दौरा खत्म करने के बाद वापस लौटते समय बर्लिन जाएंगे, जहां उनकी मुलाकात 20 अप्रैल को जर्मन चांसलर एंजेला मर्केल से होगी। केंद्रीय विदेश मंत्रालय ने शनिवार को इस बात की जानकारी दी। मर्केल के 14 मार्च को जर्मन चांसलर पद पर अपने चौथे कार्यकाल की शुरुआत करने के बाद ये दोनों नेताओं के बीच पहली मुलाकात होगी।

विदेश मंत्रालय ने कहा, जर्मन चांसलर एंजेला मर्केल की सलाह पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 20 अप्रैल को एक संक्षिप्त ठहराव लेने का निर्णय लिया है। इस दौरान प्रधानमंत्री जर्मन चांसलर और उनके दो नेताओं से द्विपक्षीय मुद्दों के साथ क्षेत्रीय और ग्लोबल मुद्दों पर चर्चा करेंगे। मोदी अपने 5 दिन के स्वीडन-ब्रिटेन दौरे की शुरुआत 16 अप्रैल को करेंगे, जिसमें उनका लक्ष्य व्यापार और निवेश समेत तमाम प्रमुख क्षेत्रों में द्विपक्षीय सहयोग बढ़ाने का रहेगा। 


मंत्रालय के अनुसार, ब्रिटेन में प्रधानमंत्री राष्ट्रमंडल देशों के प्रमुखों की बैठक में भाग लेंगे, जबकि स्वीडन में वे उत्तरी यूरोपियन देशों डेनमार्क, फिनलैंड, आइसलैंड और स्वीडन के साथ इंडो-नोर्डिक शिखर सम्मेलन में भाग लेंगे। मोदी अपने दौर में पहले स्वीडन जाएंगे, जहां वे 16 और 17 अप्रैल को रूकेंगे। इसके बाद वे यात्रा के दूसरे चरण में ब्रिटेन रवाना होंगे।