जयपुर गुजरात के वड़गांव के विधायक जिग्नेश मेवाणी को जयपुर पुलिस ने रविवार को चार घंटे तक सड़क पर रोके रखा. इस दौरान जिग्नेश सुबह दस बजे से लेकर दोपहर दो बजे तक जयपुर एयरपोर्ट के बाहर कार में बैठे रहे. मेवाणी को नागौर के मेड़ता रोड़ जाना था. वहां उन्हें डॉक्टर भीमराव अम्बेडकर जयन्ती समारोह में शामिल होना था. भड़कीले भाषण देने के लिए चर्चित रहने वाले जिग्नेश को नागौर कलक्टर ने मेड़ता में होने वाले समारोह में शामिल नहीं होने के ऑर्डर जारी किए थे.


ऑर्डर के मुताबिक उनके नागौर सीमा में प्रवेश पर पाबंदी लगा दी गई थी. डिप्टी एसपी विद्याप्रकाश ने कलक्टर के इस आदेश को तामिल कराया. चूंकि जयपुर में भी धारा 144 लगी हुई है. ऐसे में यहां पर भी किसी भी तरह के धरने प्रदर्शऩ और रैली पर रोक लगी हुई है. इस ऑर्डर की कॉपी भी विधायक जिग्नेश को दी गई. कमिश्नरेट के इस ऑर्डर की कॉपी को एयरपोर्ट तक पहुंचने में चार घंटे लग गए. चार घंटे तक पुलिस से घिरे रहे जिग्नेश का कहना था कि नागौर में प्रवेश की पाबंदी लगा दी तो जयपुर में घूमने से क्यों रोका गया. जयपुर में वे अपने परिचितों के घर जाएंगे और उनसे चर्चा करने में पुलिस को क्या परेशानी है. उन्होंने यह भी कहा कि जयपुर पुलिस के इस रवैये के खिलाफ वे कोर्ट भी जाएंगे.


उधर, डीसीपी ईस्ट कुंवर राष्ट्रदीप ने कहा कि जिग्नेश को जयपुर में लगी धारा 144 के बारे में बताने के लिए उन्हें कमिश्नर के आदेश की प्रति दी गई है. दोपहर दो बजे बाद जिग्नेश को रवाना कर दिया गया. इस दौरान पुलिस की कुछ गाड़ियां जिग्नेश के साथ लगा दी गई ताकि कोई धरना, प्रदर्शऩ या जुलूस निकालने के प्रयास नहीं किए जाएं.


उल्लेखनीय है कि मेवाणी के नागौर के मेड़ता रोड में प्रवेश पर पांबदी लगाई गई थी. इसके लिए नागौर प्रशासन ने उन्हें नोटिस भेजा था. उसके बाद सुबह नागौर जाने के लिए जयपुर पहुंचे मेवाणी को एयरपोर्ट पर ही जवाहर सर्किल पुलिस ने हिरासत में लिया.