भगवान शिव के वरदान के कारण ही भगवान गणपति को प्रथम पूजनीय कहा जाता है। हर शुभ कार्य से पहले गणपति पूजन का विशेष महत्व है। कल यानी 18 अप्रैल को अक्षय तृतीया है। इस दिन आप अपने घर में यह कार्य जरूर करें। ऐसा करने के साथ ही अपना आचरण ठीक रखेंगे तो सभी दुर्भाग्य दरवाजे से लौट जाएंगे... 

स्टेप 1. अगर आपने नया घर खरीदा है और आज गृह प्रवेश कर रहे हैं या अपने घर में अक्षय तृतीया का पूजन कर रहे हैं तो एक ही जैसी गणपति की दो तस्वीरें खरीदें। उनमें से एक को मुख्य दरवाजे पर लगा दें। ध्यान रखें इन मूर्तियों में गणपति बैठे हुए होने चाहिए। 

स्टेप 2. गणपति की दूसरी तस्वीर को घर के अंदर की तरफ उस तस्वीर के ठीक पीछे लगा दें, जिसे आपने मुख्य दरवाजे के ऊपर टांगा है। दोनों तस्वीरें इस तरह लगाएं मानों पीठ से जुड़ी हों। ऐसा करने की वजह यह है कि गणपति की पीठ में कचरे का निवास माना जाता है। 

स्टेप 3. इन तस्वीरों पर रोली का टीका लगाएं। अक्षत अर्पित करें और धूप-दीप दिखाएं। 

स्टेप 4. दरवाजे के दोनों तरफ स्वास्तिक और ओम् बनाएं। 

स्टेप 5. सिर्फ आज नहीं, हर रोज दरवाजे के पास विशेष साफ-सफाई रखें। ऐसा करने से घर में लक्ष्मी आने की संभावना बढ़ती है।