राजस्थान की वसुंधरा राजे सरकार ने महिला कर्मचारियों को 2 साल यानी 730 दिन के चाइल्ड केयर लीव की सौगात दे दी है. इस संबंध में वित्त विभाग की ओर से मंगलवार को आदेश जारी करते हुए चाइल्ड केयर लीव (सीसीएल) के प्रावधान को लागू कर दिया है.


कैबिनेट से अनुमोदन के बाद वित्त विभाग ने राज्यपाल की मंजूरी के बाद मंगलवार को वित्त विभाग ने इसका नोटिफिकेशन जारी कर दिया है. सरकार ने सीसीएल के लिए छठे वेतन आयोग की सिफारिशों को आधार बनाया है. सरकार ने इसके तहत महिला कर्मचारियों को अपने बच्चे के वयस्क होने तक 730 दिन चाइल्ड केयर लीव लेने की छूट दी है. हालांकि जिन महिला कर्मचारियों के बच्चों की उम्र 18 साल से अधिक हो चुकी हैं उन्हें इसका लाभ नहीं मिल सकेगा.


इससे पहले, केंद्र सरकार में महिलाकर्मियों को छठे वेतन आयोग की सिफारिशों के साथ ही चाइल्ड केयर लीव मिलनी शुरू हो चुकी हैं. इसी तर्ज पर राजस्थान में भी सरकार ने अब चाइल्ड केयर लीव की सिफारिशों को लागू किया है.


बता दें कि मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने 2015 में महिला कर्मचारियों के लिए चाइल्ड केयर लीव दिए जाने की घोषणा की थी. इस साल के बजट में राजे ने चाइल्ड केयर लीव की समय सीमा 2 साल अधिकतम करने का एेलान किया था.