मोदी सरकार की चौथी वर्षगांठ को 'विश्वासघात दिवस' के रूप में मना रही राजस्थान कांग्रेस ने शनिवार को मोदी सरकार पर जमकर हमला बोला. राजधानी जयपुर में प्रदेश कांग्रेस कमेटी कार्यालय में पीसीसी चीफ सचिन पायलट और प्रदेश प्रभारी अविनाश पांडे ने प्रेसवार्ता कर मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए केन्द्र की विफलताओं को गिनाया. इस दौरान सरकार के अधूरे वादों का वीडियो भी दिखाया गया.


कांग्रेस ने आरोप लगाया कि भ्रष्टाचार की लड़ाई में भाजपा सरकार ने देश को धोखा दिया है और भ्रष्टों की मदद की है. मोदीनोमिक्स ने देश का बंटाधार कर दिया. भाजपा राज में बैंकों का एनपीए बढ़ा और निर्यात व निवेश में गिरावट आई है. मेक इन इंडिया फ्लॉप शो साबित हुआ. चार साल में न नौकरियां मिली न ही अन्य रोजगार.


राजस्थान की वजह से देश पिछड़ रहा है


पीसीसी चीफ सचिन पायलट ने आरोप लगाया कि मोदी राज में हर वर्ग पर कहर ढहाया गया. विजय माल्या और नीरव मोदी हजारों करोड़ लेकर भाग गए. फिर भी भाजपा केंद्र में सुथरी सरकार का दावा करती है. राज्य सरकार तो केंद्र से भी आगे निकल गई. राजस्थान में 150 किसान आत्महत्याएं कर चुके हैं. हाड़ौती में लहसुन उत्पादक किसान भारी परेशानी में हैं. सरकार के पास रिसर्जेंट राजस्थान और मंत्रियों के बंगले चमकने के लिए पैसा है, लेकिन किसानों के कर्ज माफी के लिए पैसा नहीं है. नीति आयोग कह रहा है कि राजस्थान की वजह से देश पिछड़ रहा है. भाजपा के केन्द्रीय नेतृत्व और राजस्थान इकाई में तालमेल नहीं है. भाजपा के केंद्रीय नेतृत्व को राजस्थान इकाई पर विश्वास नहीं है.


मोदी सरकार ने देश के साथ विश्वासघात किया


प्रदेश प्रभारी अविनाश पांडे ने केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि चार साल में मोदी सरकार ने देश के साथ विश्वासघात किया है. किसानों को लागत से 50 फीसदी ज्यादा मुनाफा देने का वादा किया गया था, जबकि हकीकत यह है किसानों को फसल का एमएसपी भी नहीं मिल रहा है. यूपीए ने देश के किसानों का 72 हजार करोड़ का कर्ज माफ किया था. सरकार ने फसल बीमा का 6 हजार करोड़ का ही क्लेम दिया है, जबकि बीमा कंपनी को 14 हजार करोड़ का प्रीमियम दिया गया है. आज दलित व आदिवासी समेत छोटे व्यापारी, महिलाएं और युवा खुद को असुरक्षित महसूस कर रहे हैं.