नई दिल्ली केंद्र में एनडीए सरकार के चार साल पूरे होने पर आज बीजेपी और मोदी कैबिनेट के मंत्री सरकार की उपलब्धियां जनता तक पहुंचा रहे हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपनी सरकार का रिपोर्ट कार्ड ओडिशा के कटक में पेश कर रहे हैं। इस अवसर पर पीएम मोदी ने कटक की जनता का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि मेरी सरकार के 4 साल पूरे होने के बाद भगवान जगन्नाथ की धरती से सवा अरब भारतीय को प्रणाम करने सौभाग्य हासिल हुआ है। उत्कल की धरती विशेष है। यहां का कण-कण कुछ करने का संकल्प देता है। यहां शुरू किया कोई भी अभियान विफल नहीं होता। 


गरीब का कल्याण करना एनडीए सरकार का पहला कर्तव्य


पीएम मोदी ने केंद्र सरकार के चार साल पूरे होने पर कहा कि इन चार सालों में देश के सवा अरब लोगों में यह भरोसा पैदा किया है कि हालात बदल सकते हैं। हिन्दुस्तान बदल सकता है। सभी देशवासी जानते हैं कि केंद्र सरकार सबका साथ सबका विकास के लिए कार्य कर रही है। उन्होंने कहा कि गरीब का कल्याण करना एनडीए सरकार का पहला कर्तव्य है। पहली बार देश के राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति और पीएम ऐसे लोग हैं जिनका बचपन गरीबी में बीता है। 


20 राज्यों में भाजपा की सत्ता


भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई की वजह से कुछ लोग एक मंच पर जमा हुए हैं, इनमें से कुछ घोटाले के आरोप में जमानत पर हैं। भ्रष्टाचार के खिलाफ चल रही जांच की वजह से इस देश में 4 पूर्व मुख्यमंत्री जेल में हैं। जनता सब देखती है, सब समझती है कि कैसे कालाधन और भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई के बाद कट्टर दुश्मन भी दोस्त बन गए। जब कन्फ्यूजन नहीं कमिटमेंट वाली सरकार चलती है तब देश का राजकोषीय घाटा कम करने का फैसला लिया जाता है। 20 राज्यों में भाजपा का सत्ता में होना दिखाता है कि लोगों ने पिछले चार सालों में राजग के प्रदर्शन का समर्थन किया है।


सरकार भ्रष्टाचार से लड़ने के लिए प्रतिबद्ध है


पीएम मोदी ने कहा कि राजग सरकार भ्रष्टाचार से लड़ने के लिए प्रतिबद्ध है, पिछले चार सालों में तीन हजार से ज्यादा स्थानों पर छापेमारी की गई। राजग सरकार ने गत चार वर्षों में जनता समर्थक नीतियों के जरिये लोगों का विश्वास जीता है। राजग सरकार सही रास्ते पर है, जनता ने अपने अनुमोदन की मुहर लगाई है।


'कंफ्यूजन' नहीं, 'कमिटमेंट' की सरकार


मोदी ने पिछली सरकार पर तंज कसते हुए कहा कि राजग सरकार 'कंफ्यूजन'की सरकार नहीं, बल्कि 'कमिटमेंट' की सरकार है और इसीलिए उसने वर्षों से अटके कामों को पूरा किया है। इस संदर्भ में उन्होंने भ्रष्टाचार एवं बेनामी सम्पत्ति पर अंकुश लगाने के लिए बनाये गये कानूनों का उल्लेख किया।


हमने तो बचपन में चम्मच तक नहीं देखाः पीएम मोदी


उन्होंने कहा कि उनकी सरकार गरीबों के लिए काम करने वाली सरकार है, क्योंकि यह गरीबों के पसीने की कीमत जानती है। यह जानती है कि गरीबों का पसीना गंगा-गोदावरी की पानी की तरह ही पवित्र है। उन्होंने कहा, 'यह ऐसी सरकार है जिसके राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति और प्रधान 'सेवक' का बचपन एक-एक पैसे की कीमत पहचानते हुए बीता है। कुछ लोग चांदी के चम्मच के साथ पैदा होते हैं, लेकिन हमने तो बचपन में चम्मच तक नहीं देखा।'


बदल गई लटकाने, अटकाने और भटकाने की कार्यसंस्कृति


प्रधानमंत्री ने कहा कि वर्षों तक सत्ता के लिए देश को भ्रमित करने वालों ने भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई नहीं की। उनकी सरकार ने काले धन और भ्रष्टाचार को मिटाने के लिए यह प्रतिबद्धता दिखाई है उससे दुश्मन भी आपस में दोस्त बन गये हैं, और देश तथा जनता इस बात को समझते हैं। उन्होंने कहा कि 48 साल तक देश में एक ही परिवार का राज रहा, उसने देश की कोई परवाह नहीं की। लाखों-करोड़ों रुपये के घोटालों की खबरें लोग भूले नहीं हैं। उन्होंने कहा, 'हमारी सरकार 'जनपथ' से नहीं 'जनमत' से चलती है।' पहले लटकाने, अटकाने और भटकाने की कार्यसंस्कृति थी, जिसे उनकी सरकार ने पूरी तरह बदल दिया है। 


सरकार का उद्देश्य सबका साथ, सबका विकास


वोट बैंक की वजह से आधी-अधूरी और अपूर्ण व्यवस्था थी, जिसने देश को बबार्द किया। चुनाव जीतने के लिए जोड़-तोड़ किया जाता था और उसी आधार पर निर्णय लिये जाते थे। वोट बैंक के विकास के लिए ही काम किये जाते थे। कांग्रेस ने सिर्फ गरीबी हटाओ का नारा दिया, लेकिन गरीबी दूर नहीं की, जबकि उनकी सरकार सबका साथ, सबका विकास के उद्देश्य से काम कर रही है, इसीलिए वह जनता के दिल में जगह बनाने में कामयाब रही है।