सीकर जिला मुख्यालय पर रविवार को स्मृति वन में बायो टॉयलेट के उद्धाटन समारोह में भाजपा के सीकर सांसद सुमेधानन्द सरस्वती और कांग्रेस के पूर्व उद्योग मंत्री राजेन्द्र पारीक विकास कार्यों के मुद्दे को लेकर मंच पर ही एक दूसरे के आमने सामने हो गये. सांसद और पूर्व मंत्री की इस जुबानी जंग को देखकर समारोह में मौजूद जिला कलक्टर सहित जिले के अन्य अधिकारी और लोग हैरान रह गए. तकरार इतनी बढ़ी की पूर्व मंत्री पारीक और सीकर नगर परिषद् के सभापति जीवण खान नाराज होकर समारोह छोड़कर निकल गए.


वाकया उस समय हुआ जब स्मृति वन में विकास कार्य करने के मामले में पूर्व मंत्री राजन्द्र पारीक ने अपनी उपलब्धियां बताते हुए सांसद सुमेधानंद सरस्वती पर स्मृति वन में कुछ भी पैसा नहीं लगाने का आरोप लगाया। उन्होंने सांसद से पांच करोड़ रुपये खर्च करने की बात कही. इस पर सांसद सुमेधानंद उखड़ गये और बजट बनाकर देने की बात कही. इसी दौरान दोनों एक दूसरे पर आरोप प्रत्यारोप लगाने लगे. मंच पर करीब पांच-सात मिनट तक दोनों में जमकर बहस हुई. अचानक हुए इस घटनाक्रम को देखकर समारोह में मौजूद जिला कलक्टर समेत अन्य अधिकारी व लोग हक्के बक्के रह गए.


इस जुबानी जंग में मामला विकास कार्यों से लेकर बाद में राजनीति पर आ गया. इस दौरान दोनों ने एक दूसरे पर जुबानी हमले करते हुए चुनाव में देख लेने का चैलेंज कर कर दिया. उसके बाद पूर्व उद्योग मंत्री राजेन्द्र पारीक सांसद को भाषण देने की नसीहत देते हुए वहां से निकल गए.