जयपुर। देश में निर्मिंत तोप "धनुष-2 "का परीक्षण इन दिनों पाकिस्तान सीमा के निकट राजस्थान की पोकरण फायरिग रेंज में किया जा रहा है। तेज गर्मी के चलते भट्टी के समान तप रहे रेगिस्तान में "धनुष-2 "से सेना के जवान गोले दाग रह है। परीक्षण में तोप की मारक क्षमता देखी जा रही है।


सैन्य सूत्रों के अनुसार अभी तक के परीक्षण में तोप अपने परीक्षण में खरी उतरी है। परीक्षण के दौरान तोप से दागे जा रहे गोलों से पोकरण का इलाका थर्रा रहा है। तोप से दागे जाने वाले गोलों की आवाज दूर-दूर तक सुनाई दे रही है।


42 किमी तक करेगी मार-


सेना, डीआरडीओ और जबलपुर स्थित आयुध फैक्ट्री के अधिकारियों की मौजूदगी में तोप का परीक्षण एक सप्ताह तक चलेगा। सैन्य सूत्रों के अनुसार यह तोप 42 किलोमीटर की दूरी तक मार करने में सक्षम है।


पहले भी किया गया था परीक्षण-


दो साल पहले ट्रायल के दौरान इस तोप का बैरल फट गया था। इसके बाद परीक्षण रोक दिया गया था। अब खामियों को ठीक करते हुए फिर से परीक्षण किया जा रहा है।


आठ मीटर लंबे बैरल का उपयोग-


जानकारी के अनुसार बोफोर्स तोप का स्वदेशी वर्जन तैयार करने के लिहाज से सेना, डीआरडीओ और आयुध फैक्ट्री ने मिलकर "धनुष" तोप तैयार की थी। लेकिन, अब इसका उन्नत वर्जन "धनुष-2" के नाम से तैयार किया गया है । पहले वर्जन में रही कमियों को दूर करते हुए इसकी मारक क्षमता को बढ़ाया गया है। धनुष-2 में उपयोग किया गया बैरल आठ मीटर लंबा है। यह दुनिया के सबसे लंबे बैरल वाली तोप में से एक है।